दिन व्यापारी रणनीतियाँ

कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें?

कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें?
(6) Coin by Zerodha (10 लाख से ज्यादा डाउनलोड)
Zerodha coin से आपको 34 फंड हाउस के 3,000 से अधिक कमीशन-मुक्त डायरेक्ट म्यूचुअल फंड में निवेश का मौका मिलता है. केपिटल गेइन स्टेटमेंट, प्रोफिट-लोस विज़ुअलाइज़ेशन, वार्षिक (XIRR) और ऐब्सोलुट रिटर्न का सिंगल स्टेटमेंट उपलब्ध कराया जाता है. म्युचुअल फंड डीमैट रूप में रखे जाते हैं, और इस प्रकार लोन लेने की जररूत पडे तो युनिट इन्हें गिरवी रखने में आसानी होती है.

भारत गौरव ट्रेनों से तीर्थ यात्रा में मिलेगी 33 प्रतिशत तक किराये में छूट।

कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

एमएफ में भी हैं कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें? जोखिम तो निवेश क्यों?

ऐसे में पहला सवाल उठता है कि अगर Mutual Funds के भी जोखिम हैं तो इसमें निवेश क्यों किया जाए। दरअसल Mutual Funds बड़े फंड की ताकत और Fund Manager के अनुभव के आधार पर कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें? सीधे निवेश के मुकाबले आपके जोखिम को कम करता है और बेहतर रिटर्न के मौके बनाता है। इसमें निवेश के अपने जोखिम होते हैं, लेकिन वो आपके द्वारा किसी एसेट में सीधे किए गए निवेश के मुकाबले काफी कम होते हैं।

Investing in Exchange Traded Fund (ETF) can give you more profit

यानी अनिश्चितता की स्थिति में म्यूचुअल फंड अगर जोखिम खत्म नहीं करता तो उन्हें काफी कम कर देता है। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि आप अपनी स्कीम के जोखिमों को समझें और उसी आधार पर निवेश को लेकर गंभीर बनें। आइए देखें, स्कीम पर किन बातों का असर पड़ सकता है।

शेयर बाजार के जोखिम

Mutual Funds में सबसे ज्यादा रिटर्न इक्विटी से जुड़ी स्कीम में मिलता है, इसलिए एमएफ के लिए सबसे बड़ा रिस्क खुद शेयर बाजार ही है। हालांकि जोखिम इस बात से तय होता है कि आपने किस तरह के शेयरों का चुनाव किया है। अगर आप लार्जकैप कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें? या ब्लूचिप फंड्स में पैसा लगा रहें हैं तो आपके लिए जोखिम कम होगा। हालांकि स्मॉलकैप फंड्स में पैसा लगाने पर बढ़त में रिटर्न ज्यादा मिलेगा लेकिन गिरावट में नुकसान की संभावना भी ज्यादा होगी।

अक्सर देखने को मिलता है कि बाजार में गिरावट के साथ ही लोग बिना सोचे समझे स्कीम से पैसा निकालते हैं। ऐसी स्थिति में पहले आपको बाजार में गिरावट की वजह और अपनी स्कीम के जोखिम का स्तर देखना होगा। अगर जोखिम कम है और स्टॉक मजबूत हैं तो निवेश निकाल लेना आपके लिए नुकसान का सौदा बन सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि किसी विशेषज्ञ की मदद लें और अपने स्कीम के बारे में समझें। 5paisa आपको सभी स्कीम के जोखिम के स्तर और रिटर्न के अनुमानों की सटीक जानकारी देता है जिससे आप अपनी स्कीम के गिरावट और तेजी दोनों ही स्थिति में प्रदर्शन का अनुमान लगा सकते हो। इससे आप ज्यादा बेहतर फैसला ले सकते हैं।

महंगाई दर का जोखिम

Mutual Fund में निवेश लंबी अवधि का होता है, ऐसे में निवेश पर महंगाई का असर साफ दिखता है। यही वजह होती है कि Fund Manager अपने फंड्स के रिटर्न को ऐसे स्तर तक बनाए रखने की कोशिश करते हैं जिससे महंगाई के असर के बाद भी मुनाफा बेहतर हो।

अगर स्कीम पहले से काफी ऊंचे रिटर्न दे रही हो तो महंगाई का असर खास नहीं पड़ता, क्योंकि आपके रिटर्न ऊंचे हैं। हालांकि अगर रिटर्न काफी कम हैं तो महंगाई की वजह से उनका वास्तविक मूल्य कम हो जाता है। यही वजह है कि एक्सपर्ट अलग अलग जोखिम और रिटर्न के आधार पर अलग अलग स्कीम में निवेश की सलाह देते हैं जिसमें आपका औसत रिटर्न ऊंचा ही बना रहे और आप महंगाई के असर से बच जाएं।

आप इसके लिए 5paisa जैसे एप की मदद ले सकते हैं। जहां म्यूचुअल फंड्स में निवेश पर कोई कमीशन नहीं लिया जाता है। वहीं आपको जोखिम उठाने के आधार पर सबसे बेहतर रिटर्न देने वाली स्कीम की जानकारी दी जाती है जिससे आपके रिटर्न हर स्थिति में ऊंचे ही बने रहें।

ऑनलाइन या डीमैट, कहां निवेश फायदेमंद! जानें म्यूचुअल फंड में निवेश का तरीका

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए ऑनलाइन जरिया बेहतर होता है. यहां आपको एडवाइजर को कमीशन नहीं देना होगा. घर बैठे ही पसंदीदा फंड में निवेश कर सकते हैं.

म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश AMC की वेबसाइट पर जाकर बेहतर तरीके से किया जा सकता है.

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए कई विकल्प मौजूद हैं. आप ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं या फिर डिस्ट्रीब्यूटर और डीमैट के जरिये भी इनमें निवेश किया जा सकता है. आज म्यूचुअल फंड में निवेश के इन तरीकों में से एक डीमैट अकाउंट की चर्चा करने वाले हैं.
डीमैट अकाउंट से निवेश करने के क्या नफा-नुकसान हैं, ये बता रहे कमीशन मुक्त में निवेश कैसे करें? हैं फिनसेप इंडिया की फाइनेंशियल एजुकेटर मृन अग्रवाल.

डीमैट अकाउंट
डीमैट एक अकाउंट है जहां आप सिक्योरिटीज रखते हैं. सिक्योरिटीज जैसे शेयर, बॉन्ड्स, म्यूचुअल फंड और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) को डीमैट खाते में रखा जाता है. आप डीमैट खाता डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट के पास खोल सकते हैं. डीमैट के लिए आईडी और एड्रेस प्रूफ जमा करना होगा. जरूरी दस्तावेज जमा करने के बाद आपका खाता खुल जाएगा.

स्थायी कमीशन से वंचित नौसेना अफसरों को सेवा मुक्त करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, चार हफ्ते में मांगा जवाब

शीर्ष अदालत ने नौसेना अधिकारियों की शिकायतों पर दोबारा विचार करने को कहा

जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस सूर्यकांत की पीठ ने अतिरिक्त सालिसिटर जनरल संजय जैन और वरिष्ठ वकील आर. बालासुब्रमणियम से नौसेना के अफसरों की शिकायतों पर दोबारा विचार करने को भी कहा जिनमें से कुछ को सेवा से मुक्त कर दिया गया है।

नई दिल्ली, प्रेट्र। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र और नौसेना को उन अधिकारियों (पुरुष व महिला) को सेवामुक्त करने से रोक दिया, जिन्हें स्थायी कमीशन नहीं दिया गया है। साथ ही शीर्ष अदालत ने इस मुद्दे पर केंद्र से जवाब भी मांगा है।

ऐप के जरिए करें म्यूचुअल फंड में सीधे निवेश

  • Vijay Parmar
  • Updated On - August 6, 2021 / 04:47 PM IST

ऐप के जरिए करें म्यूचुअल फंड में सीधे निवेश

कुछ एप्स म्यूचुअल फंड में जीरो कमीशन पर डायरेक्ट निवेश करने का मौका देती है और उनके स्टॉक्स में ट्रेडिंग के ब्रोकर शुल्क भी नगण्य है.

Mutual Fund Direct Investment Apps: कई निवेशक मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए म्यूचुअल फंड में डायरेक्ट निवेश करने लगे है. विभिन्न स्टार्ट-अप्स और ब्रोकरेज हाउसिस के अत्याधुनिक एप्स ने निवेशकों का काम काफी आसान कर दिया है, क्योंकि छोटी सी स्क्रीन के जरिए निवेश करना, वार्षिक रिटर्न की गीनती करना, टैक्स के बारे में जानना, अपने निवेश और उस पर मिल रहे रिटर्न को ट्रैक करना आसान और सरल बन गया है. आप इन एप्स से म्यूचुअल फंड में निवेश के अलावा स्टॉक ट्रेडिंग भी कर सकते है. कुछ एप्स म्यूचुअल फंड में जीरो कमीशन पर डायरेक्ट निवेश करने का मौका देती है और उनके स्टॉक्स में ट्रेडिंग के ब्रोकर शुल्क भी नगण्य है. गूगल प्ले स्टोर से सबसे ज्यादा डाउनलोड हो चुकी ऐसी 9 ऐप्स के बारे में जानते है.

रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 133
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *