विदेशी मुद्रा क्लब

शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है

शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है

स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं? शेयर बाजार में करियर कैसे बनाये?

क्या आप भी यह प्रश्न खोज रहे है कि स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं? शेयर बाजार में करियर कैसे बनाये? तो उसके लिए शेयर मार्केट के सभी दांव पेज को जानना जरुरी है यदि कोई व्यक्ति सही प्रकार से शेयर मार्केट में पैसे लगाना सीख जाता है तो वह यहां से एक ही साल में करोड़पति अथवा अरबपति भी बन सकता है और अगर कोई अनाड़ी व्यक्ति इसमें अपने पैसे लगाता है तो वह भिखारी भी बन सकता है।

स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं? शेयर बाजार में करियर कैसे बनाये?

इसलिए शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है शेयर मार्केट की हर एडवर्टाइजमेंट में यह बात भी कही जाती है कि शेयर मार्केट जोखिमों के अधीन है। इसीलिए इसमें सोच समझ कर के ही इन्वेस्टमेंट करना चाहिए। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने कदम पीछे खींच ले।

  • शेयर मार्केट क्या है?
  • म्युचुअल फंड क्या है?

अगर आप पूरी रणनीति के साथ इसमें पैसे लगाते हैं तो आप शेयर मार्केट से अच्छे पैसे भी कमा सकेंगे, साथ ही शेयर मार्केट में कैरियर स्थापित कर सकेंगे।

स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं?

शेयर मार्केट में आना तो काफी आसान है परंतु यहां पर सिर्फ आने से ही काम नहीं चलता है बल्कि आपको यहां पर अपना फोकस मुख्य तौर पर पैसे कमाने पर रखना चाहिए, परंतु यहां से पैसे कमाना भी इतना आसान नहीं है। आपको मार्केट के उतार-चढ़ाव को ध्यान रखना पड़ता है साथ ही विभिन्न प्रकार की चीजों का एनालिसिस भी करना पड़ता है और उसके बाद आपको सही स्टॉक में या फिर सही शेयर में अपने पैसे डालने पड़ते हैं।

अगर आप यहां जरा सा भी चूक जाते हैं तो आपकी मेहनत की कमाई डूब सकती है। इसलिए आपको सावधानी के साथ आगे बढ़ना पड़ता है। खैर अगर आपने शेयर मार्केट में जाने का मन बना लिया है और आप “शेयर मार्केट में कैरियर कैसे बनाना चाहते हैं” यह जानना चाहते हैं तो नीचे आपको स्टेप बाय स्टेप “शेयर मार्केट में कैरियर कैसे बनाएं” इसकी डिटेल्स दी जा रही है।

1: अपनी पढ़ाई पूरी करें

जब कोई विद्यार्थी 12 या फिर 15 साल का हो जाता है तो उसे इतनी समझ आ जाती है कि आगे चलकर के उसे क्या करना है अथवा क्या बनना है। इस प्रकार आपको पहले से ही यह निर्णय कर लेना है कि आपको शेयर मार्केट में जाना है।

इसलिए आप को ध्यान पूर्वक गणित जैसे विषयों का अध्ययन दसवीं क्लास में भी करना है और 12वीं क्लास में भी करना है, साथ ही आपको 12वीं क्लास में कॉमर्स का सब्जेक्ट लेना है, क्योंकि आगे चलकर के शेयर मार्केट में यह आपके काफी काम आने वाला है, क्योंकि शेयर मार्केट में आपको काफी जोड़ घटाव करना पड़ता है। इसलिए गणित में आपकी बुद्धि तेज होनी चाहिए।

2: डिग्री हासिल करें

12वीं क्लास को पास करने के बाद आपको इकोनॉमिक्स और कॉमर्स जैसे सब्जेक्ट से अपने ग्रेजुएशन की डिग्री को पूरा करना पड़ता है। इसके लिए आप 12वीं क्लास को पास करने के पश्चात बीबीए के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। यह आपके कैरियर को आगे बढ़ाने में काफी फायदेमंद साबित होगा। बीबीए करने के बाद अगर आप बिजनेस या फिर शेयर मार्केट से संबंधित और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप एमबीए जैसा कोर्स भी कर सकते हैं।

क्योंकि शेयर मार्केट में जाने के लिए अधिकतर कंपनियां एमबीए डिग्री धारक व्यक्ति को ही प्रायोरिटी देती है। हालांकि कुछ कंपनियां ऐसी भी हैं जो ऐसे विद्यार्थियों को भी मौका देती है जिन्होंने बीकॉम, शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है बीएससी, बीटेक की डिग्री हासिल की है परंतु एक बात तो तय है कि जिन लोगों ने इकोनामिक और कॉमर्स सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन किया है उन्हें यहां पर ज्यादा अहमियत प्राप्त होती है।

3: NISM एग्जाम

अगर कोई विद्यार्थी शेयर मार्केट में अपनी नौकरी को सुरक्षित करना चाहता है तो उसे NISM एग्जाम को पास करना बहुत ही जरूरी होता है। हालांकि इस एग्जाम को अनिवार्य तो नहीं किया गया है परंतु अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते हैं, तो आपके सक्सेस का रेट काफी ज्यादा हो जाता है।

आप एग्जाम को पास करने के बाद अपने कौशल को और भी सुधार सकते हैं, ताकि आप शेयर मार्केट में जाने के पश्चात एक अच्छे एडवाइजर बन सके। NISM सर्टिफिकेट को प्राप्त करने का एक बेनिफिट यह भी है कि कस्टमर आप से अधिक प्रभावित होते हैं।

4: शेयर मार्केट के पद

नीचे हमने आपको शेयर मार्केट में मौजूद कुछ ऐसे पदों की जानकारी दी है, जिसकी योग्यता को पूरा करके आप उन पदों को प्राप्त कर सकते हैं और शेयर मार्केट में काम करना चालू कर सकते हैं यानी कि शेयर मार्केट में अपना कैरियर बना सकते हैं।

• स्टॉक ब्रोकर

इसकी भारी मात्रा में डिमांड शेयर मार्केट में होती है। इस पद पर जो व्यक्ति काम करता है वह लोगों को इस बात की एडवाइस देता है कि उन्हें शेयर को खरीदना चाहिए अथवा शेयर को बेचना चाहिए। यह व्यक्ति लोगों का पैसा सही जगह पर इन्वेस्टमेंट शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है हो, इसकी इंफॉर्मेशन कस्टमर को बताता है।

• कैपिटल मार्केट स्पेशलिस्ट

जो व्यक्ति शेयर मार्केट में इस पद पर काम करता है वह मार्केट में गिरने वाले और बढ़ने वाले शेयर भाव के ट्रेंड पर अपनी नजर को बनाकर रखता है।

• सिक्योरिटी एनालिस्ट

इस पद को प्राप्त करने के लिए आपको कॉमर्स सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी पड़ेगी। कंपनी सिक्योरिटी एनालिस्ट को इसलिए रखती है ताकि वह मार्केट और इंडस्ट्री के बारे में सही इंफॉर्मेशन प्राप्त कर सके। इनकी मुख्य तौर पर डिमांड ब्रोकरेज फर्म और इंश्योरेंस कंपनी में होती है।

• इवेंट मैनेजर

इस पद पर काबिज व्यक्ति इंडस्ट्री/ कंपनी की जो प्रोग्रेस होती है, उसे मॉनिटर करने का काम करता है और इवेंट मैनेजर की सहायता से ही कंपनी आर्थिक नीतियों पर इंपॉर्टेंट फैसले लेती है।

• सिक्योरिटी रिप्रेजेंटेटिव

इस पद पर काबिज व्यक्ति कस्टमर के नए अकाउंट को ओपन करता है और उन्हें शेयर को खरीदना चाहिए या नहीं अथवा शेयर को बेचना चाहिए अथवा नहीं, इसके बारे में इंफॉर्मेशन देता है। इनकी भी अधिकतर डिमांड बैंक और फर्म में होती है।

• मार्केटिंग एंड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव

इन्हें इसलिए नौकरी पर रखा जाता है ताकि यह नया शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है अकाउंट ओपन कर सके, बॉन्ड और म्यूचुअल फंड के बारे में लोगों को जानकारी दे सके। इनकी भी अधिक डिमांड शेयर मार्केट में होती है।

• फ्रीलांसर ब्रोकर

फ्रीलांसर ब्रोकर स्वतंत्र रूप से काम करते हैं। इसके अंतर्गत आपको अपना खुद का स्टॉक ब्रोकिंग फॉर्म ओपन करना होता है, जहां पर कस्टमर खुद ही चल करके आपके सामने आते हैं और आपसे बातचीत करते हैं।

शेयर मार्केट से कमाई

अगर आपने कॉमर्स क्षेत्र में डिग्री हासिल की है या फिर इकोनॉमिक्स के क्षेत्र में डिग्री हासिल की है, तो आप बिना एक्सपीरियंस के भी स्टार्टिंग में आसानी से शेयर मार्केट से महीने में ₹15000 से लेकर के ₹16000 तक की कमाई कर सकते हैं और अगर आपने पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर ली है तो आप महीने में आसानी से स्टार्टिंग में ₹20000 से लेकर ₹26000 तक की कमाई कर सकते हैं।

हालांकि आपको शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है अब यह नहीं सोचना है कि शेयर मार्केट से इतनी कमाई होती है। आपकी कमाई शेयर मार्केट से अधिक भी हो सकती है और कम भी हो सकती है। शेयर मार्केट से कमाई या शेयर मार्केट के गणित का सटीक अनुमान आपको शेयर मार्केट की फील्ड में जाने के पश्चात ही होगा।

इस आर्टिकल में हमने आपको स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं? शेयर बाजार में करियर कैसे बनाये? के बारे में जानकारी दी, साथ ही हमने आपको “शेयर मार्केट में कैरियर बनाने के स्टेप बाय स्टेप तरीके” के बारे में भी बताया।

  • शेयर कैसे ख़रीदे?
  • शेयर मार्केट कैसे सीखे?
  • शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए?
  • शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं?
  • Share Market Books In Hindi

Hope आपको स्टॉक मार्केट में करियर कैसे बनाएं? शेयर बाजार में करियर कैसे बनाये? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, ओर हेल्पफ़ुल लगा होगा।

दोस्तो! हमें उम्मीद है आज का यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ होगा। आप इस लेख से जुड़े अपने विचारों को कमेंट की मदद से हमें बता सकते हैं।

शेयर बाजार क्या है | Share Market Basics In Hindi, Types Of Share Market

इस पोस्ट में हम Share Market याने शेयर बाजार की जानकारी जानेंगे, जैसे की, What is share market, Share market basics in hindi, शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार कितने प्रकार के होते है, Types of share market और शेयर मार्केट में पैसा कब और कैसे invest करना चाहिए, Stock market in hindi, इत्यादि।

उद्योग या व्यवसाय चलाने के लिए जो कैपिटल होना जरूरी है, वह उन्हें शेयर बाजार से मिलता है। यह शेयर बाजार किसी भी विकसित देश की अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। तो दोस्तों निचे हम Share Market, शेयर बाजार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जानेंगे।

stock market in hindi, share market basics in hindi, share market kya hai in hindi, share market tips in hindi, what is share market in hindi, शेयर मार्केट टिप्स, types of share market in hindi, share market kya hai, sheyar market in hindi, शेयर बाजार क्या है, types of shares in hindi, शेयर बाजार क्या होता है, शेयर कितने प्रकार के होते हैं, share market for beginners in hindi, शेयर मार्केट क्या है, स्टॉक मार्केट क्या है,

Table of Contents

शेयर बाजार क्या है – What Is Share Market In Hindi?

Share Market में शेयर को ख़रीदा और बेचा जाता है। Share का मतलब “हिस्सा” या “भाग” होता है, परन्तु शेयर बाजार की भाषा में बात करे तो Share का अर्थ होता है कंपनियों का हिस्सा लेना, किसी कंपनी का शेयर खरीदना याने उस कंपनी का हिस्सेदार या भागीदार बन जाना।

शेयर मार्केट को स्टॉक मार्केट भी कहा जाता है, इसके माध्यम से आम आदमी भी छोटे-बड़े उद्योग या व्यवसाय मे अपनी भागीदारी कर सकता है। लेकिन किसी को Share Market बहुत फायदा हो जाता है या फिर किसी को उसकी बहुत बड़ी कीमत भी चुकानी पडती है यानि नुकसान भी हो जाता है।

Share Market में किसी को शेयर की कीमत में मांग और आपूर्ति के सिद्धांत की वजह से उतार-चढ़ाव आ जाता है। शेयर को खरीदने के लिए अगर ज्यादा व्यक्ति रहे तो शेयर की कीमत बढ़ जाती है और जब शेयर को बेचने वाले की संख्या ज्यादा हो तो कीमत घटती जाती है।

Stock Market, Share Market For Beginners In Hindi

शेयर मार्केट याने Stock market यह एक ऐसी जगह है जहा पर शेयर को ख़रीदा जा सकता है और बेचा जा सकता है, यहा पर बहुत से लोग पैसे कमाकर अपना फायदा भी कर लेते है और कुछ लोगो को पैसे गवाना भी पड़ता है, इसलिए यहाँ पर सोच-समझ कर ही फैसला लेना चाहिए।

BSE (Bombay Stock Exchange) और NSE (National Stock Exchange) यह भारत में मुख्य रूप से दो Stock Exchange है, जहा पर लोग शेयर खरीदते है और बेचते है।

Stock/Share की खरीदी- बिक्री करने के लिए शेयर ब्रोकर्स यानी शेयर दलाल की जरूरत पडती है, शेयर ब्रोकर्स किसी व्यक्ति या कंपनी को शेयर खरीदी और बिक्री करने का काम करता है और वह उसका कमीशन लेता है।

स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर और निवेशक यह शेयर बाजार की तीन कडियाँ है। शेयर बाजार में ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते है और सिर्फ वो ही स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग कर सकते हैं। शेयर ब्रोकर्स याने शेयर दलाल की मदद से शेयर को ख़रीदा या बेचा जाता है। ग्राहक हो या कंपनी वह खुद शेयर खरीद या बेच नही सकते, इसलिए शेयर बाजार में हिस्सा लेना है तो शेयर दलाल की बहुत जरूरत होती है।

शेयर मार्केट के प्रकार – Types Of Share Market In Hindi

शेयर मार्केट के मुख्यतः Primary Share Market और Secondary Share Market यह दो प्रकार होते है, इसका सविस्तर विश्लेषण नीचे दिया गया है:

Primary Share Market – प्राथमिक शेयर मार्केट

Primary Share Market यह शेयर मार्केट का पहला प्रकार है। सबसे पहले कंपनी अपने शेयर्स की स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग करवाकर अपने शेयर को बेचती है, पर इसके लिए उन्हें पहले IPO (Initial Public Offering) लाना पड़ता है।

इसमे IPO लाने के बाद तय किये गये मूल्य पर अपने शेयर पब्लिक को ख़रीदने के लिए उपलब्ध किये जाते है। कंपनियां प्राथमिक बाजार के माध्यम से निवेशकों तक पहुँचने के लिए स्टॉक एक्सचेंज जैसे BSE, NSE और ब्रोकर की मदद लेते हैं।

किसी कंपनी को IPO (Initial Public Offering) के लिए जाना है, तो उस समय उसको पूरी जानकारी देनी होती है जैसे की, Promoters, Financials, Businesses, अपने शेयर या स्टॉक और उनकी कीमत आदि।

Secondary Share Market – द्वितीयक शेयर मार्केट

जब शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करने की बात आती है, तो हम Secondary Share Market की ही बात करते है, क्योकि इन द्वितीयक शेयर मार्केट में ही हम पैसा लगाते है। इस प्रकार के मार्केट में पहले से ही लिस्टेड कंपनी के शेयर की खरेदी बिक्री होती है।

द्वितीयक शेयर बाजार में एक स्टॉक या शेयर की कीमत देख कर उसे ख़रीदा या बेचा जाता है, लेकिन उसके फायदे या नुकसान के साथ उस शेयर की ख़रीदा या बिक्री होती है। इसमे भी ब्रोकर या दलाल की मदद से ही खरेदी-बिक्री होती है। अगर किसी निवेशक गुंतवणूकदार को शेयर बाजार से बाहर निकलना है. तो वह अपना शेयर किसी ओर को बेचकर शेयर मार्केट से बाहर निकल सकता है ऐसा भी इस प्रकार के मार्केट में होता है।

शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट कैसे करें – How To Invest In Share Market

How to Money Invest in Share Market: शेयर मार्केट में हम पैसा इन्वेस्ट तो करना चाहते है, पर इन्वेस्ट करने से पहले ही हमारे सामने बहुत से सवाल खड़े हो जाते हैं जैसा कि, हमे कहां निवेश याने Invest करना चाहिए और कैसे करना है या Invest करने पर हमारे साथ कोई धोखा तो नहीं होगा। इन सब बातो का ख्याल रखकर ही शेयर बाजार में हम आसानी से निवेश कर सकते हैं।

1. Share Market में आने के लिए आपको स्टॉक ब्रोकर, शेयर्स को होल्ड करने के लिए Demat Account और शेयर्स को रोज खरीदने और बेचने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत होती है। तो सबसे पहले इन जरूरतों को पूरा करने के लिए आपको स्टॉक ब्रोकर ऐसा चुनना चाहिए, जो कम से कम कमीशन ले और आपको अच्छी सेवा भी प्रदान करे।

2. शेयर बाजार को एक बिज़नेस की तरह समझना चाहिए और आपको उसी कंपनी का शेयर ख़रीदना है, जिसका बिज़नेस अच्छा हो और आपको समझ में आये।

3. शेयर बाजार में इन्वेस्ट करने से पहले आपको अपनी आर्थिक स्तिथि को भी समझ लेना चाहिए, जैसे की अपनी financial situation क्या है, कमाई और रिक्स लेने की क्षमता, इत्यादी। सिर्फ पैसे लगाना ही सबकुछ नही होता है बल्कि आपको पहले अपनी financial plan के बारे में भी सोचना पड़ता है।

4. Share Market याने Stock market की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की, आपको शेयर बाजार के बारे में पूरी और सही जानकारी होना बहुत जरूरी है। आपको कोई भी फैसला जल्दबाजी में नही लेना चाहिए वरना आपको इसकी बहुत बडी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

5. शेयर मार्केट में किसी को भी कोई शेयर खरीदना और बेचना है तो उसके लिए हमेशा एक स्टॉक ब्रोकर या शेयर दलाल की जरूरत होती है। जब आप शेयर बाजार में निवेश या Invest करने के लिए स्टॉक ब्रोकर की मदद लेते है, तो सबसे पहले आपको उनके पास से दो अकाउंट खोलने पड़ते है Demat Account और Trading Account, यह अकाउंट खोलने के बाद आप आसानी से कोई भी शेयर की खरेदी-बिक्री कर सकते है।

6. जब कभी भी आपको शेयर बाजार में Invest या निवेश करना है, तो सबसे पहले उस कंपनियों की हालातों के बारे में सब बाते जानना बहुत जरूरी है।

7. शेयर बाजार में शेयर विकास का दर कम हो या महँगाई दर ज्यादा हो, तो उस वक्त बड़ी कंपनियों पर नजर रखें, क्योंकि ऐसी स्थिति में छोटी कंपनियों के मुकाबले में बड़ी कंपनियों के शेयर अच्छी स्थिति में होते हैं।

तो दोस्तों आशा करते है की आपको What is share market, Share market basics in hindi, शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार कितने प्रकार के होते है, Types of share market और शेयर मार्केट में पैसा कब और कैसे invest करना चाहिए, Stock market in hindi, इत्यादि की सही जानकारी मिली होंगी। यदि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी तो हमें comments करके बताये और अपने दोस्तों में जरुर शेअर करे।

Stock Market: शेयर बाजार क्या है?

अगर शाब्दिक अर्थ में कहें तो शेयर बाजार किसी सूचीबद्ध कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने-बेचने की जगह है.

stock-market-thinkstocks-

BSE या NSE में ही किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर ब्रोकर के माध्यम से खरीदे और बेचे जाते हैं. शेयर बाजार (Stock Market) में हालांकि बांड, म्युचुअल फंड और डेरिवेटिव का भी व्यापार होता है.

स्टॉक बाजार या शेयर बाजार में बड़े रिटर्न की उम्मीद के साथ घरेलू के साथ-साथ विदेशी निवेशक (FII या FPI) भी काफी निवेश करते हैं.

शेयर खरीदने का मतलब क्या है?
मान लीजिये कि NSE में सूचीबद्ध किसी कंपनी ने कुल 10 लाख शेयर जारी किए हैं. आप उस कंपनी के प्रस्ताव के अनुसार जितने शेयर खरीद लेते हैं आपका उस कंपनी में उतने हिस्से का मालिकाना हक हो गया. आप अपने हिस्से के शेयर किसी अन्य खरीदार को जब भी चाहें बेच सकते हैं.

कंपनी जब शेयर जारी करती है उस वक्त किसी व्यक्ति या समूह को कितने शेयर देना है, यह उसके विवेक पर निर्भर है. शेयर बाजार (Stock Market) से शेयर खरीदने/बेचने के लिए आपको ब्रोकर की मदद लेनी होती है.

ब्रोकर शेयर खरीदने-बेचने में अपने ग्राहकों से कमीशन चार्ज करते हैं.

किसी लिस्टेड कंपनी के शेयरों का मूल्य BSE/NSE में दर्ज होता है. सभी सूचीबद्ध कंपनियों के शेयरों का मूल्य उनकी लाभ कमाने की क्षमता के अनुसार घटता-बढ़ता रहता है. सभी शेयर बाजार (Stock Market) का नियंत्रण भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी या SEBI) के हाथ में होता है.

Sebi की अनुमति के बाद ही कोई कंपनी शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्ट होकर अपना प्रारंभिक निर्गम इश्यू (आईपीओ या IPO) जारी कर सकती है.

प्रत्येक तिमाही/छमाही या सालाना आधार पर कंपनियां मुनाफा कमाने पर हिस्साधारकों को लाभांश देती है. कंपनी की गतिविधियों की जानकारी SEBI और BSE/NSE की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होती है.

कोई कंपनी BSE/NSE में कैसे लिस्ट होती है?
शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्ट होने के लिए कंपनी को शेयर बाजार से लिखित समझौता करना पड़ता है. इसके बाद कंपनी पूंजी बाजार नियामक SEBI के पास अपने सभी जरूरी दस्तावेज जमा करती है. SEBI की जांच में सूचना सही होने और सभी शर्त के पूरा करते ही कंपनी BSE/NSE में लिस्ट हो जाती है.

इसके बाद कंपनी अपनी हर गतिविधि की जानकारी शेयर बाजार (Stock Market) को समय-समय पर देती रहती है. इनमें खास तौर पर ऐसी जानकारियां शामिल होती हैं, जिससे निवेशकों के हित प्रभावित होते हों.

शेयरों के भाव में उतार-चढ़ाव क्यों आता है?
किसी कंपनी के कामकाज, ऑर्डर मिलने या छिन जाने, नतीजे बेहतर रहने, मुनाफा बढ़ने/घटने जैसी जानकारियों के आधार पर उस कंपनी का मूल्यांकन होता है. चूंकि लिस्टेड कंपनी रोज कारोबार करती रहती है और उसकी स्थितियों में रोज कुछ न कुछ बदलाव होता है, इस मूल्यांकन के आधार पर मांग घटने-बढ़ने से उसके शेयरों की कीमतों में उतार-चढाव आता रहता है.

अगर कोई कंपनी लिस्टिंग समझौते से जुड़ी शर्त का पालन नहीं करती, तो उसे सेबी BSE/NSE से डीलिस्ट कर देती है.

शायद आपको पता न हो, विश्व के सबसे अमीर व्यक्तियों में शामिल वारेन बफे भी शेयर बाजार (Stock Market) में ही निवेश कर अरबपति बने हैं.

आप कैसे कर सकते हैं शेयर बाजार में निवेश की शुरूआत?
आपको सबसे पहले किसी ब्रोकर की मदद से डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा. इसके बाद आपको डीमैट अकाउंट को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा.

बैंक अकाउंट से आप अपने डीमैट अकाउंट में फंड ट्रांसफर कीजिये और ब्रोकर की वेबसाइट से खुद लॉग इन कर या उसे आर्डर देकर किसी कंपनी के शेयर खरीद लीजिये.

इसके बाद वह शेयर आपके डीमैट अकाउंट में ट्रांसफर हो जायेंगे. आप जब चाहें उसे किसी कामकाजी दिन में ब्रोकर के माध्यम से ही बेच सकते हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

शेयर मार्केट क्या है

शेयर मार्केट वह बाजार होता है, जहाँ पर अलग – अलग विभिन्न कंपनियों के शेयर बेचने और खरीदने का काम किया जाता हैं | यह बाजार किसी सामान्य बाजार से अलग नहीं बल्कि यह शेयर मार्केट भी दूसरे सामान्य बाजार की तरह होता है, जहाँ पर जाकर लोग शेयर की खरीद बिक्री करते हैं इसका काम अब ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी किया जा सकता है |

इसलिए यदि आप भी शेयर मार्केट के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको शेयर मार्केट क्या है ,Share Market में निवेश कैसे करे | इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

शेयर मार्केट की जानकारी

Table of Contents

शेयर मार्केट एक ऐसी मार्केट हैं, जहाँ पर कंपनियां अपने शेयर को मार्केट में आम जनता के खरीद बिक्री करने के लिए जारी कर देती है, और इसके बाद इसी के जरिये कंपनियां अपने बिज़नेस में हिस्सेदारी खरीदने का जनता को मौका प्रदान करती है | इसके बाद जो लोग शेयर को खरीदने का काम करते है वो उस कंपनी के हिस्सेदार बन जाते हैं | यदि किसी की भी स्टॉक की कीमत में किसी भी तरह का उतार चढ़ाव होता है तो वह उस कंपनी की स्थिति पर निर्भर करता है|

वहीं, यदि हम Stock Market की बात करें तो, यह एक ऐसी मार्केट होती है, जिसमें बहुत ही कम समय शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है में पैसे कमाए जाते हैं लेकिन, यदि इसमें मुनाफा न हुआ तो, इसमें बड़ी तदाद में ऐसे डूब जाने की संभावना अधिक होती है लेकिन ऐसा तभी होता है, जब किसी ट्रेड में और Company के बिज़नेस में उतार चढ़ाव होता है, यह उस कम्पनी के उतार चढ़ाव पर आधारित है |

शेयर मार्केट में निवेश कैसे करे

शेयर मार्किट के लिए आप ऑफ़लाइन और ऑनलाइन दोनों ही तरीके से निवेश कर सकते है लेकिन इन्वेस्ट चाहे जैसे किया जाए, इसके लिए आपको एक Stock Broker की आवश्यकता जरूर होती है, क्योंकि शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए आप इसमें directly प्रवेश नहीं कर सकते हैं | इसलिए यह आप किसी भी शेयर को खरीदने या बेचने का काम करते है, तो इसके लिए आपके पास एक Stock Broker का होना बहुत ही आवश्यक होता है, क्योंकि एक Investor ही आपको इस बाजार तक पहुंचाने में मदद करता है |

शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए आपको Market में मदद करने के लिए कई Broker मिल जायेंगे जैसे Zerodha, Sharekhan, Angel Broking, ICICI Direct इत्यादि | इन ब्रोकर्स से संपर्क करने पर ये आपके लिए अकाउंट खोलने के काम को पूरा कर देंगे, जिससे आप इसमें Invest कर सकते है

इन्वेस्टमेंट के लिए खोले जाने वाले अकाउंट

    .
  1. Trading Account.

जब आपके ये दोनों Account एक Stock Broker के माध्यम से खोल दिए जाते हैं, तो आप इसके बाद से ही अपना हिस्सा खरीदने और बेचने का काम भी प्रारम्भ कर सकते है इसके अलावा मार्केट में मिनिमम इन्वेस्टमेंट करने के लिए किसी भी प्रकार कोई भी नियम नहीं बनाया गया है और न ही किसी भी प्रकार की लिमिट तय की गई है | इसमें आप अपने बजट के अनुसार निवेश कर सकते है | इसलिए आप निवेश करने के लिए $1 कीमत वाले शेयर भी खरीद सकते हैं और आप अपने बजट के मुताबिक़ stock खरीद सकते हैं लेकिन आपको बाजार में Invest करने के लिए अच्छे Stock Broker का चुनाव करना बहुत ही अनिवार्य होता है |

ऑनलाइन शेयर के लिए निवेश कैसे करें

ऑनलाइन शेयर में निवेश करने के लिए आपके पास सबसे पहले Demat Account होना बहुत ही जरूरी होता है , जिसे आप एक Broker के माध्यम से आसानी के साथ खुलवा सकते है | इसके अलावा आप आपका जिस शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है भी बैंक में Saving अकाउंट है वहां से भी आप Demat Account खुलवा सकते हैं |

इसलिए यदि आप Demat Acount खुलवाते है, तो आपके पास Saving Account का होना भी अतिआवश्यक है और इसके साथ ही आपके पास Internet banking भी होना चाहिए ।

Demat Account के लिए आवश्यक दस्तावेज

    .
  • Address Proof.
  • Passport Size Photos.
  • Account Check Book.

शेयर खरीदने से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी

  1. यदि आप Stock Market में निवेश करते है, तो इसके लिए आपके पास बैंक एकाउंट, Demat एकाउंट, Trading एकाउंट का होना बहुत ही जरूरी होता है |
  2. Invest करने से पहले आप जिस कम्पनी में निवेश करना चाहते हैं उस कंपनी की बिज़नेस कैसी है, परफॉरमेंस कैसी है | कंपनी की मैनेजमेंट अच्छी है या नहीं | इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए |
  3. शेयर खरीदने के लिए Investors को अच्छे fundamentals वाली कंपनियों में ही पैसे लगाने की जरूरत है |

यहाँ पर हमने आपको शेयर मार्केट के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | अन्य सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कमेंट करे | अधिक जानकारी के लिए पोर्टल hindiraj.com पर विजिट करे |

Investment Tips: शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बनें? आपका भी है यही सवाल? ये 7 जवाब

अमित कुमार दुबे

पैसा कमाना हर किसी को अच्छा लगता है. कहा जाता है कि शेयर बाजार में बहुत पैसा है. कुछ लोगों को उदाहरण दिया जाता है कि इन्होंने महज 5000 रुपये से निवेश की शुरुआत की थी, और आज शेयर बाजार से करोड़ों रुपये बना रहे हैं. आखिर उनकी सफलता का राज क्या है, आज हम आपको बताएंगे? (Photo: Getty Images)

How can I earn 1 crore easily

दरअसल, आप भी कुछ आसान टिप्स को फॉलो कर शेयर बाजार से पैसे बना सकते हैं. शेयर बाजार में कुछ बातों का ध्यान रखकर आप लखपति से करोड़पति बन सकते हैं. लेकिन अक्सर लोग पैसे बनाने की होड़ में नियम और रिस्क को भूल जाते हैं, या फिर कहें जानबूझकर नजरअंदाज कर देते हैं. और फिर उनकी उनकी शिकायत होती है कि शेयर बाजार से बड़ा नुकसान हो गया. (Photo: Getty Images)

Major Reasons Retail Investors Lose Money in the Stock

यह भी एक कड़वी सच्चाई है कि शेयर बाजार से 90 फीसदी से ज्यादा रिटेलर पैसा नहीं बना पाते हैं, हर रिटेल निवेशक को शेयर बाजार में कदम रखने से पहले इसे आंकड़े को ध्यान में रखना चाहिए. लेकिन एक इसमें एक अच्छी बात यह है कि 10 फीसदी रिटेल निवेशक पैसे बनाने में सफल रहते हैं. क्योंकि वे नियमों को फॉलो करते हैं. (Photo: Getty Images)

शुरुआत कैसे करें:

अब आइए आपको बताते हैं कि शेयर बाजार के आप कैसे करोड़पति बन सकते हैं.

1. शुरुआत कैसे करें: शेयर बाजार में निवेश से पहले ये जानने की कोशिश करें कि शेयर बाजार क्या है? शेयर बाजार कैसे काम करता है? लोगों को शेयर बाजार से कैसे कमाई होती है? क्योंकि शेयर बाजार कोई पैसे बनाने की मशीन नहीं है. डिजिटल के इस दौर में आप घर बैठे ऑनलाइन इस बारे में जानकारी जुटा सकते हैं. इसके अलावा आप इस मामले में वित्तीय सलाहकार की मदद ले सकते हैं. जो आपको शुरुआत में सही दिशा बताएंगे.

छोटी रकम से करें निवेश की शुरुआत


2. छोटी रकम से करें निवेश की शुरुआत: ये जरूरी नहीं है कि शेयर बाजार में निवेश के लिए बड़ी शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है रकम होनी चाहिए. अधिकतर लोग यही गलती करते हैं. अपनी पूरी जमापूंजी शेयर बाजार में लगा देते हैं. फिर बाजार में उतार-चढ़ाव को झेल नहीं पाते हैं. आप छोटी रकम यानी महज 5 रुपये से भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं. (Photo: Getty Images)

टॉप कंपनियों को चुनें

3. टॉप कंपनियों को चुनें: शुरुआत में बहुत ज्यादा रिटर्न पर फोकस करने से बचें. क्योंकि बहुत ज्यादा रिटर्न के चक्कर में लोग उन कंपनियों स्टॉक्स में पैसे लगा देते हैं, जो फंडामेंटली मजबूत नहीं होते हैं, और फिर फंस जाते हैं. इसलिए निवेश की शुरुआत अक्सर लार्ज कैप कंपनियों से करें. जो फंडामेंटली मजबूत हो. जब आपको कुछ साल का अनुभव हो जाएगा तो फिर थोड़ा रिस्क ले सकते हैं.

 निवेशित रहने की जरूरत

4. निवेशित रहने की जरूरत: जब आप छोटी रकम से निवेश की शुरुआत करेंगे, तो फिर हर महीने निवेश को बढ़ाते रहें. अपने पोर्टफोलियो को संतुलित बनाकर रखें. जब आप लगातार कुछ साल तक बाजार में निवेशित रहेंगे तो फिर आप लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं. अक्सर बाजार में लंबे समय के निवेशित रहने वालों का फायदा होता है. (Photo: Getty Images)

पैनी स्टॉक्स से रहें दूर

5. पैनी स्टॉक्स से रहें दूर: रिटेल निवेशक अक्सर सस्ते स्टॉक्स पर फोकस करते हैं. 10-15 रुपये वाले स्टॉक्स को अपने पोर्टफोलियो में शामिल कर लेते हैं और फिर गिरावट में घबरा जाते हैं. उन्हें लगता है कि सस्ते शेयर में कम निवेश कर ज्यादा कमाया जा सकता है. लेकिन ये सोच गलत है. स्टॉक्स शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है का चयन हमेशा कंपनी की ग्रोथ को देखकर करें. उसी कंपनी में निवेश करें, जिसका बिजनेस अच्छा हो और उस बिजनेस को चलाने वाला मैनेजमेंट अच्छा हो.

 गिरावट में घबराएं नहीं

6. गिरावट में घबराएं नहीं: शेयर बाजार में जब भी गिरावट आए, तो अपने निवेश को बढ़ाने बढ़ाएं. अक्सर रिटेल निवेशक को जब तक कमाई होती है, तब तक वो निवेश में बने रहते हैं. लेकिन जैसे से बाजार में गिरावट का दौर चलता है, रिटेल निवेशक घबराने लगते हैं, और फिर बड़े नुकसान के डर से शेयर सस्ते में बेच देते हैं. जबकि बड़े निवेशकर खरीदारी के लिए गिरावट का इंतजार करते हैं. (Photo: Getty Images)

 कमाई का कुछ हिस्सा करें सुरक्षित निवेश


7. कमाई का कुछ हिस्सा करें सुरक्षित निवेश: शेयर बाजार से होने वाली कमाई के कुछ हिस्से को सुरक्षित निवेश के तौर पर दूसरे जगह पर भी लगाएं. इसके अलावा अपने मुनाफे को बीच-बीच में कैश करते हैं. सबसे अहम और हर रिटेल निवेशक के जरूरी बात यह है कि वे बिना जानकारी शेयर बाजार से दूर रहें, और निवेश से पहले वित्तीय सलाहकार की मदद जरूर लें. देश के बड़े निवेशकों को फॉलो करें, उनकी बातों को गंभीरता से लें. (Photo: Getty Images)

रेटिंग: 4.49
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 448
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *