विदेशी मुद्रा क्लब

फाइनेंस कितने प्रकार का होता है

फाइनेंस कितने प्रकार का होता है
जीएसटीआर-3बी (GSTR-3B):

जयपुर में होम लोन

घर खरीदना आपकी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण फाइनेंस कितने प्रकार का होता है फाइनेंस कितने प्रकार का होता है फैसला होता है। हम समझते हैं कि घर खरीदने की पूरी प्रक्रिया में बहुत समय और मेहनत की जरूरत होती है। प्रॉपर्टी की बढ़ती कीमत के साथ जयपुर जैसे शहर में एक आम आदमी के लिए घर खरीदना आर्थिक रूप से कठिन हो गया है। अपने कस्टमाइज़्ड होम लोन पेशकश के ज़रिए वंडर होम फाइनेंस बन चुका हैं जयपुर का सबसे भरोसेमंद होम लोन सल्यूशन प्रदाता। कई ऐसे बैंक, गैर-सरकारी वित्तीय संगठन हैं जो जयपुर में होम लोन प्रदान करते हैं लेकिन उनमें से सबसे बेहतरीन होम लोन प्रदाता कौन है, यह चुनना बहुत मुश्किल काम है। वंडर होम फाइनेंस में हम खुद का घर खरीदने के आपके सपने और भावनाओं का सम्मान करते हैं। हम जयपुर में सर्वश्रेष्ठ होम फाइनेंस कंपनीज़ में से एक हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के उद्देश्य "हाउसिंग फॉर ऑल (सभी के लिए घर)" की कल्पना करते हुए हम ग्राम पंचायत और सोसाइटी पट्टे पर भी होम लोन देते हैं। हाउसिंग फाइनेंस के कई विकल्पों के साथ, वंडर होम फाइनेंस आपको जयपुर में किफायती दरों पर होम लोन प्रदान करता है। एक फ्लेक्सिबल रिपेमेंट प्लान और हमेशा तत्पर ग्राहक सेवा केंद्र के द्वारा, वंडर होम फाइनेंस जयपुर में आपके घर बनाने के सपने को साकार करने में मदद करता है। अगर आप जयपुर में होम लोन लेने की योजना बना रहे हैं, तो ज्यादा सोचें नहीं, क्योंकि राजस्थान में वंडर होम फाइनेंस सबसे भरोसेमंद होम लोन प्रदाता है। होम लोन के अलावा, हम जयपुर में प्रॉपर्टी लोन और बैलेंस ट्रांसफर जैसे विकल्प भी मुहैय्या करवाते हैं। हम आपके लोन आवेदन को जल्द से जल्द प्रोसेस करने में विश्वास करते हैं, ताकि आपका सपना और लंबे समय तक इंतजार ना करे। आपके फैसले और राशि की गणना को आसान बनाने के लिए, हमारे पास ईएमआई कैलकुलेटर, होम लोन योग्यता कैलकुलेटर और बैलेंस ट्रांसफर कैलकुलेटर जैसे टूल्स उपलब्ध हैं जिसके द्वारा आप अपने वित्तीय प्लान आसानी से बना सकें। इसलिए, ज्यादा मत सोचिए और वंडर होम फाइनेंस की जयपुर शाखा में आइए और अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप बेस्ट होम लोन सोल्यूशन पाइए।

हम आपकी किस तरह सहायता कर सकते हैं?

होम लोन लेना चाहते हैं

यदि आपके पास हमारे लोन उत्पादों से संबंधित कोई प्रश्न है, तो कृपया हमसे निःसंकोच संपर्क करें। हमारे कस्टमर केयर प्रतिनिधि आपकी सहायता के लिए जल्द ही कॉल करेंगे।

मिस्ड कॉल दें
80-55-600-700

WhatsApp करें
7300-23-8888

हमारे ऑफीस आएँ
शाखा खोजें

आवेदन करें

सबमिट पर क्लिक करके, मैं WHFL को एसएमएस, ईमेल, व्हाट्सएप के माध्यम से मुझसे संपर्क करने के लिए अधिकृत करता हूं

सार्वजनिक ऋण यानि पब्लिक डेट क्या होता है? किसी देश के विकास से इसका क्या संबंध?

देश की सरकार द्वारा ली गई उधार की कुल राशि को सार्वजनिक ऋण या Public Debt कहते हैं. सार्वजनिक ऋण का भुगतान किसी भी देश के संचित निधि से किया जाता है. आसान शब्दों में समझें तो, किसी भी देश की सरकार अपने विकास कार्यों को पूरा करने के लिए विदेश या देश में मौजूद वित्तीय प्रदाताओं से जो उधार लेती है, उसे सार्वजनिक ऋण कहा जाता है.

केंद्र सरकार ने सार्वजनिक ऋण को मुख्य रूप से दो श्रेणियों में बांटा है. सार्वजनिक ऋण को भारत की संचित निधि के विरुद्ध अनुबंधित ऋण के रूप में परिभाषित किया गया है. संविधान के अनुच्छेद 266 (2) के तहत भारत की संचित निधि के बाहर प्राप्त अन्य सभी निधियां इसमें शामिल हैं. इसके अलावा दूसरे प्रकार की देनदारियों को सार्वजनिक खाता कहा जाता है.

पिछले कुछ वर्षों में केंद्र सरकार ने अपने द्वारा लिए गए ऋणों में विदेशी ऋणों पर निर्भरता को कम करने के लिए एक रणनीति का पालन किया है, जिसके तहत वर्तमान में देश का आंतरिक ऋण समग्र सार्वजनिक ऋण के कुल हिस्से का 93% से अधिक है. बाहरी ऋण बाजार से लिया गया ऋण नहीं होता है. इसे संस्थागत देनदारों से रियायती दरों पर सरकार द्वारा उठाया गया है. इनमें से अधिकांश बाहरी रेट निश्चित दर के रेट हैं, फाइनेंस कितने प्रकार का होता है जो ब्याज दर या मुद्रा की अस्थिरता से मुक्त है.

Kaam Ki Baat: क्या होता है जीएसटी रिटर्न? जानें कितने प्रकार के होते हैं जीएसटी रिटर्न्स

By: ABP Live | Updated at : 02 Aug 2022 04:56 PM (IST)

जीएसटी रिटर्न कैलेंडर 2022 में सभी डेडलाइन का है जिक्र

Types of GST Returns: गुड्स एंड सर्विसेज कानून (GST Law) में कुल 22 तरह के जीएसटी रिटर्न का प्रावधान है. इनमें से केवल 11 प्रकार के जीएसटी रिटर्न एक्टिव (Active GST Return) हैं और तीन सस्पेंड (Suspended GST Return) हैं. वहीं 8 ऐसे जीएसटी रिटर्न हैं जिनमें व्यवसाय से संबंधी जानकारी दर्ज होती है लेकिन इन्हें केवल देखा जा सकता है (View Only GST Return) इन्हें क्लेम करने का प्रावधान नहीं है.

जीएसटीआर-1 (GSTR-1):

जीएसटी के तहत रजिस्टर्ड हर करदाता को यह रिटर्न भरना होता है. इसमें फाइनेंस कितने प्रकार का होतफाइनेंस कितने प्रकार का होता है ा है बिक्री से संबधित सभी लेन-देन की इंवॉइस और डेबिट-क्रेडिट नोट्स की जानकारी होती है. 5 करोड़ रुपये से ज्यादा के एग्रिगेट टर्नओवर वाले व्यवसायियों को हर महीने की 11 तारीख तक और QRMP स्कीम को चुनने वाले व्यवसायियों के लिए हर तीसरे महीने की 13 तारीख तक इस जीएसटीआर-1 रिटर्न को फाइल करना अनिवार्य है.

Home Loan कितने सालों का होना चाहिए? अपनी उम्र के आधार पर लें फैसला और साथ में इन बातों का रखें विशेष ध्यान

Home Loan कितने सालों का होना चाहिए? अपनी उम्र के आधार पर लें फैसला और साथ में इन बातों का रखें विशेष ध्यान

Home Loan: इस समय होम लोन (Home Loan) पर इंट्रेस्ट रेट काफी कम है जो सालों के न्यूनतम स्तर पर है. फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स घर खरीदने के साथ-साथ निवेश के लिहाज से भी इसे उपयुक्त समय मान रहे हैं. जैसा कि हम जानते हैं होम लोन कर्ज के पहाड़ की तरह होता है जिसे सालों-साल तक चुकाना पड़ता फाइनेंस कितने प्रकार का होता है है. ऐसे में जब आप होम लोन की मदद से अपने लिए घर खरीदने का फैसला करते हैं तो कई फैक्टर्स पर ध्यान देने की जरूरत होती है. लोन का अमाउंट (Loan Amount) कितना होगा, इंट्रेस्ट रेट कितना है, ईएमआई (EMI) कितनी होगी और यह कितने सालों तक चुकानी होगी.

उम्र के आधार पर करें लोन अवधि का फैसला

अगर आप करियर के शुरुआत में हैं तो लंबी अवधि के लिए होम लोन उपयुक्त माना जाता है. ईएमआई कम रहती है और वक्त के साथ आपकी कमाई बढ़ती है जिसके कारण किसी तरह की वित्तीय परेशानी से बचते हैं. वहीं आपकी उम्र अगर 40 साल या इससे अधिक है तो कम अवधि वाला होम लोन फायदेमंद माना जाता है. टेन्योर कम रखने से बैंक भी आसानी से लोन देगा और ढलती उम्र के साथ यह जरूरी है कि आप रिटायरमेंट से पहले तक सभी वित्तीय जिम्मेदारियों को पूरा कर लें. बैंक अधिकतम आपकी रिटायरमेंट उम्र तक का लोन उपलब्ध करा सकता है. मान लीजिए की आपकी उम्र 28 साल है तो होम लोन का मैक्सिमम टेन्योर 32 साल तक का हो सकता है.

अगर आपको लोन अमाउंट ज्यादा होगा तो EMI भी ज्यादा होगी. ऐसे में उतना ही लोन लें जितना आपकी वर्तमान इनकम है. भविष्य में होने वाली किसी तरह की इनकम के आधार पर वर्तमान में कर्ज लेने से बचें. अगर लोन अमाउंट आपकी वर्तमान सालाना इनकम से 2-3 गुना तक है तो लोन की अवधि को कम रखें. अगर लोन अमाउंट आपकी इनकम के मुकाबले बहुत ज्यादा है तो रीपेमेंट के लिए लंबी अवधि का चुनाव करें.

क्या कोई कर्ज पहले से भी है?

होम लोन लेते फाइनेंस कितने प्रकार का होता है समय इस बात को भी ध्यान में रखें कि आप पर किसी और तरह का कर्ज फाइनेंस कितने प्रकार का होता है तो नहीं है, जैसे पर्सनल लोन, कार लोन, क्रेडिट कार्ड बिल, गोल्ड लोन. अगर आप फाइनेंस कितने प्रकार का होता है पर पहले से कर्ज है तो दो काम कर सकते हैं. पहला काम इन कर्ज को जल्द चुकाएं जिससे होम लोन में कई तरह के लाभ मिलेंगे. आपको इंट्रेस्ट रेट में रियायत मिलेगी, लोन टेन्योर का चुनाव सही तरीके से कर पाएंगे. दूसरा विकल्प ये है कि पुराने कर्ज के साथ-साथ लंबी अवधि वाला होम लोन लें जिससे कि आप वित्तीय दबाव में ना रहें.

इन महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखते हुए अपने लिए होम लोन का फैसला करें. जब आप होम लोन ले लेते हैं तो रीपेमेंट में डिफॉल्ट होने की कोशिश नहीं करें. होम लोन से पहले अपनी वर्तमान इनकम, फ्यूचर इनकम, वर्तमान के खर्च, फ्यूचर में संभावित खर्ज, इमरजेंसी सिचुएशन को ध्यान में रखते हुए ही लोन अमाउंट और ईएमआई के बारे में फैसला लें. जैसा कि हम जानते है होम लोन पर टैक्स में भारी छूट मिलती है. ऐसे में टैक्स सेविंग पर्पस को भी ध्यान में रखें.

माइक्रो फाइनेंस के तहत एक व्यक्ति को ₹1 लाख से ज्यादा कर्ज नहीं मिलेगा

debt-

प्रति ग्राहक कर्ज की एक लाख रुपये की सीमा तय करने वाली वित्तीय संस्थाओं में कोटक महिंद्रा और इंडसइंड बैंक भी शामिल हैं.

दरअसल, अब वित्तीय संस्थाएं माइक्रो फाइनेंस के तहत ज्यादा रकम का लोन देने से कतरा रही हैं. सोमवार को इन कर्जदाताओं ने फाइनेंस कितने प्रकार का होता है फाइनेंस कितने प्रकार का होता है एक नया कोड पेश किया. इसके तहत एक कर्जदार को तीन से अधिक कर्जदाताओं से लोन नहीं मिलेगा. इसके अलावा वह कुल 1 लाख रुपये तक का ही लोन ले सकता है.

इस बारे में पिछले साल से काम चल रहा था. इस बदलाव को सिर्फ NBFC और माइक्रो फाइनेंस संस्थानों (MFI) तक सीमित नहीं रख कर पूरी माइक्रो क्रेडिट इंडस्ट्री के लिए लागू किया गया है. यह कदम सुरक्षा के मकसद से उठाया गया है.

रेटिंग: 4.66
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 879
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *