निवेशकों के लिए अवसर

शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है?

शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है?
फेड र‍िजर्व के फैसले से टूटा अमेर‍िकी बाजार

शेयर बाजार खुलते ही चंद मिनटों में 1185 अंक उछला सेंसेक्स, जानिए किन 3 वजहों से आई ये तेजी

शेयर बाजार खुलते ही चंद मिनटों में 1185 अंक उछला सेंसेक्स, जानिए किन 3 वजहों से आई ये तेजी

सोमवार को सेंसेक्स में करीब 638 अंकों कि गिरावट देखने को मिली. वहीं आज मंगलवार को सेंसेक्स करीब 1185 अंक तक उछल गया है. आइए जानते हैं किन वजहों से बाजार में ये तेजी देखने को मिल रही है.

शेयर बाजार (Share Market Latest Update) के लिए इस सप्ताह की शुरुआत भले ही बहुत ही खराब रही हो, लेकिन महानवमी (Navratri) के मौके पर सेंसेक्स (Sensex) में तगड़ा उछाल देखा जा रहा है. बाजार खुलने के महज चंद मिनटों में ही सेंसेक्स 1185 अंक तक उछल गया. हालांकि, उसके बाद इसमें मामूली उतार-चढ़ाव देखने को मिला. निफ्टी में भी शानदार तेजी देखने को मिली है और वह करीब 350 अंक तक चढ़ गया. सवाल ये है कि आखिर ये तेजी आई क्यों? आइए जानते हैं किन 3 बड़ी वजहों (Why share market rising) के चलते आज शेयर बाजार में तेजी देखी जा रही है.

1- अमेरिकी डॉलर और ट्रेजरी यील्ड में गिरावट

आज शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है? शेयर बाजार में शानदार तेजी की सबसे बड़ी वजह अमेरिका से देखने को मिल रही है. अमेरिकी डॉलर में गिरावट देखी गई है और साथ ही ट्रेजरी यील्ड में भी गिरावट आई है, जिसके चलते भारत का इक्विटी बाजार तेजी के साथ खुला है. बैंकिंग और वित्तीय शेयरों ने शेयर बाजार की तेजी की अगुआई की है.

भारतीय शेयर बाजार में बड़ी गिरावट की वजह अक्सर रिटेल निवेशक नहीं होते हैं. ठीक उसी तरह बड़ी तेजी का क्रेडिट भी रिटेल निवेशकों को कभी-कभार ही जाता है. बाजार की तेजी की सबसे बड़ी वजह होते हैं विदेशी निवेशक यानी एफआईआई. जब वह बाजार से पैसा निकालने लगते हैं तो बाजार गिरता है, जब खरीदारी करते हैं तो बाजार चढ़ता है. मुमकिन है कि आज सेंसेक्स में तगड़े उछाल शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है? की एक बड़ी वजह एफआईआई हों.

3- हर साल अक्टूबर में होता है ऐसा

भारत में अक्टूबर का महीना तमाम त्योहारों से भरा रहता है. इसी महीने नवमी, दशहरा, भैया दूज, दिवाली जैसे कई अहम त्योहार आते हैं. इन सब की वजह से अक्टूबर के महीने में हमेशा ही शेयर बाजार शानदार तेजी दिखाता है. पिछले 10 में से 8 सालों में इस महीने में सेंसेक्स ने पॉजिटिव रिटर्न दिए हैं. उम्मीद की जा रही है कि इस बार भी अक्टूबर का महीना हर साल की तरह शानदार रिटर्न देगा.

वैश्विक बाजारों में कमजोर रुख और विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली जारी रहने से घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में सोमवार को गिरावट रही. तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स (BSE Sensex) 638.11 अंक टूटकर 56,788.81 पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 743.52 अंक तक नीचे चला गया था. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 57,454.84 का उच्च स्तर और 56,683.40 का निम्न स्तर छुआ.

सेंसेक्स के शेयरों में मारुति सुजुकी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंडसइंड बैंक, ITC, बजाज फाइनेंस, भारतीय स्टेट बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक प्रमुख रूप से नुकसान में रहे. सबसे ज्यादा 3.16 प्रतिशत मारुति का शेयर गिरा है. इसके बाद हिंदुस्तान यूनिलीवर है, जो 2.77 प्रतिशत टूटा है. बीएसई पर लिस्टेड 30 कंपनियों में से 4 को छोड़ बाकी 26 कंपनियों के शेयर ​लाल निशान में बंद हुए हैं. डॉ. रेड्डीज, NTPC, भारती शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है? एयरटेल और विप्रो लाभ में रहे.

निफ्टी क्या है nifty 50 कैसे खरीदे

निफ्टी क्या है nifty 50 कैसे खरीदे

निफ्टी क्या है nifty 50 की जानकारी निफ्टी किसे कहते हैं निफ्टी के बारे में जानकारी हिंदी में निफ़्टी कैसे खरीदें नेशनल स्टॉक एक्सचेंज NSE के सूचकांक को निफ्टी कहते हैं NSE में लिस्टेड शीर्ष 50 शेयरों में खरीदारी बिकवाली से जो एवरेज आता है उसी को nifty 50 कहते हैं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में हजारों की संख्या में शेयर लिस्टेड है किंतु शीर्ष 50 अलग-अलग सेक्टर की कंपनियों के शेयरों पर निफ़्टी 50 का भाव निर्धारित करता है

जानिए 30 साल में कब-कब लोअर सर्किट की वजह से बंद हुआ शेयर शेयर मार्केट में सेंसेक्स क्या होता है? बाजार में कारोबार?

नई दिल्ली। दुनिया भर में कोरोना के कहर से बाजार में हाहाकार की स्थिति है। शेयर बाजार में गुरुवार को लोअर सर्किट लगते-लगते बचा। बाजार बार-बार लोअर सर्किट यानी 10 फीसदी की गिरावट के करीब पहुंच रहा था, लेकिन गनीमत रही कि हर बार वह रिकवर होता गया। लेकिन शुक्रवार को कारोबार शुरू होने के कुछ ही मिनटों में 10 फीसदी से अधिक की गिरावट आई और निफ्टी का कारोबार 45 मिनट के लिए बंद कर दिया गया। जब शेयर बाजार दोबारा खुला तो निफ्टी में धीरे-धीरे मजबूती दिखी। लेकिन कारोबार फिर डाउन हो गया। तब से बाजार में कारोबार का उतार-चढ़ाव जारी है।

share_bazar.jpeg

अगर शुक्रवार को सेंसेक्स में गिरावट की बात करें तो यह विगत 12 सालों में सबसे बड़ी गिरावट साबित हुई। इससे पहले 2008 में इतनी ही बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी। गुरुवार के कारोबार में तो लोअर सर्किट नहीं लगा, लेकिन सेंसेक्स में शुक्रवार को 9.43 फीसदी की गिरावट के बाद ही लोअर सर्किट लगा दिया गया और 45 मिनट के लिए कारोबार बंद कर दिया गया। जब शेयर बाजार दोबारा खुला तो सेंसेक्स में मजबूती देखने को मिली। आइए हम आपको बताते हैं कि पिछले तीन दशक में शेयर बाजार के इतिहास में इससे पहले ऐसे चार और मौके आ चुके हैं, जब सेंसेक्स में लोअर सर्किट लगा और शेयर बाजार ठप हो गया था।

Stock Market: बढ़त के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स में 107 अंक की हुई उछाल

by Anzar Hashmi

Stock Market: शेयर बाजार में इस हफ्ते हुआ उतार चढ़ाव, निवेशकों को इन शेयर्स ने किया मालामाल

Stock Market: भारतीय शेयर बाजारों (Stock Market) के लिए बुधवार का सत्र उतार-चढ़ाव हो रहा था। हालांकि, बेंचमार्क सूचकांक बढ़त के साथ बंद हो गया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) 0.17 फीसदी या 107.73 अंक की बढ़त लेकर 61,980.72 पर पहुंचकर बंद हो गया था। कारोबारी सत्र में सेंसेक्स अधिकतम 62,052.57 अंक तक और न्यूनतम 61,708.63 अंक तक पहुंच गया था। बाजार बंद होते समय सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 16 शेयर हरे निशान पर और 14 शेयर लाल निशान पर पहुंच चुका है।

Share Market: मंदी की आहट से शेयर बाजार क्रैश, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में बंद, इन शेयर्स ने किया कंगाल

Stock Market Crash: आज का कारोबार खत्म होने के बाद मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स करीब 337.06 अंक यानी 0.57% की गिरावट के साथ 59,119.72 पर बंद हुआ है जबकि निफ्टी भी 88.55 अंकों यानी 0.50% की गिरावट के साथ 17,629.80 अंक पर बंद हुआ है.

alt

5

alt

5

alt

रेटिंग: 4.96
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 700
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *