विदेशी मुद्रा विकल्प क्या है?

क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं?

क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं?
NSE or BSE which is best: शेयर बाजार में एनएसई में लगाएं पैसे या बीएसई में, जानिए दोनों में होता है क्या अंतर!

NSE or BSE which is best: शेयर बाजार में एनएसई में लगाएं पैसे या बीएसई में, जानिए दोनों में होता है क्या अंतर!

NSE or BSE which is best: अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश (Investment in share market) करने की सोच रहे हैं या अभी-अभी शुरुआत की है तो एक सवाल मन में जरूर उठता होगा कि आखिर बीएसई में निवेश करने से फायदा है या फिर एनएसई में निवेश करना चाहिए। आइए जानते हैं क्या हैं ये दोनों और इनमें क्या होता है अंतर (difference between nse and bse)।

which is best to invest bse or nse, know what is the difference between them

NSE or BSE which is best: शेयर बाजार में एनएसई में लगाएं पैसे या बीएसई क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? में, जानिए दोनों में होता है क्या अंतर!

पहले समझिए क्या है बीएसई और एनएसई

ये दोनों ही स्टॉक एक्सचेंज हैं। बीएसई में करीब 5000 कंपनियां लिस्टेड हैं, जो एशिया क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? का सबसे पुराना एक्सचेंज है। वहीं दूसरी ओर एनएसई में लगभग 1600 के करीब कंपनियां लिस्टेड हैं। दोनों के ही जरिए आप शेयर बाजार में पैसे लगा सकते हैं। अधिकतर कंपनियां दोनों ही स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड होती हैं, इक्का-दुक्का कंपनियां भी सिर्फ एक स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होती है।

बीएसई और एनएसई में क्या है अंतर?

दोनों में पहला अंतर तो शेयर की कीमत का होता है, लेकिन ये इतना मामूली होता है कि उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। जैसे मान लीजिए कि रिलायंस का शेयर बीएसई पर 2000 रुपये का है, तो सकता है कि एनएसई पर इसकी कीमत 2001 रुपये हो। वहीं स्टॉक ब्रोकर एंजेल ब्रोकिंग के अनुसार एनएसई और बीएसई पर टैक्स लगाने का तरीका अलग-अलग होता है, लेकिन इसमें भी कोई बड़ा अंतर नहीं होता है।

तो एनएसई में लगाएं पैसे या बीएसई में?

एंजेल ब्रोकिंग के अनुसार अगर आप नए-नए शेयर बाजार में घुसे हैं तो आपके लिए बीएसई बेहतर है, जबकि अगर आप शेयर बाजार के मझे हुए खिलाड़ी हैं तो एनएसई बेहतर विकल्प है। अगर नई कंपनियों में निवेश करते हैं तो बीएसई बेहतर विकल्प है, जबकि अगर आप ट्रेडिंग करते हैं या डेरिवेटिव्स, फ्यूचर, ऑप्शंस में पैसे लगाते हैं एनएसई बेहतर विकल्प है। एंजेल ब्रोकिग के अनुसार एनएसई के सॉफ्टवेयर बेहतर हैं, जिससे हाई रिस्क वाले ऑनलाइन ट्रांजेक्शन किए जा सकते हैं। वहीं जो लोग बस एक बार पैसे लगाकर बैठकर उसे बढ़ता हुआ देखना चाहते हैं, उन्हें बीएसई में पैसे लगाने चाहिए।

कैसे लगाएं पैसे?

वैसे तो आप जिस भी ब्रोकर के जरिए शेयर बाजार में पैसा लगाएंगे, वह बीएसई और एनएसई दोनों ही एक्सचेंज पर रिजस्टर्ड होगा। फिर भी अगर आप अपने पसंद के एक्सचेंज में पैसा लगाना चाहते हैं तो शेयर खरीदते वक्त आपको विकल्प मिलेगा। इसी तरह शेयर बेचते वक्त भी आपको विकल्प मिलेगा कि आप किस एक्सचेंज पर शेयर बेचना चाहते हैं। वैसे अगर आप नए-नए शेयर बाजार में आए हैं तो एक्सचेंज की चिंता ब्रोकर पर ही छोड़ दीजिए और सिर्फ कंपनी पर ध्यान दीजिए और मुनाफा कमाइए।

Best Stock for Investment: खरीद सकते हैं ये 5 शेयर्स, Expert की सलाह- 2 से 3 साल में होगी अच्छी कमाई!

Expert Recommended Shares: अगर निवेशक 2 से 3 साल के लिए शेयर बाजार में पैसे लगाना चाहते हैं तो फिर उनके लिए ये 5 स्टॉक्स विकल्प हो सकते क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? हैं. एक्सपर्ट की मानें तो ये स्टॉक्स फिलहाल एक दायरे में कारोबार कर रहा है. लेकिन आगे ग्रोथ की संभावना है.

इस शेयरों में दांव लगाने की सलाह (Photo: File)

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 22 नवंबर 2022,
  • (अपडेटेड 22 नवंबर 2022, 2:59 PM IST)

शेयर बाजार (Share Market) एक बार फिर नया रिकॉर्ड बनाने के लिए दहलीज पर पहुंच गया है. पिछले एक साल से शेयर बाजार एक दायरे में कारोबार कर रहा है. जबकि पिछले एक क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? हफ्ते से निफ्टी 18000 के ऊपर बना हुआ है. पिछले एक साल में उतार-चढ़ाव के दौरान कई अच्छे स्टॉक्स में करेक्शन देखने को मिले हैं.

शेयर बाजार के जानकारों का कहना है कि जब बाजार में गिरावट आए तो होशियारी से उस वक्त सही स्टॉक को चुनने का भी मौका होता है. ताकि बाजार में तेजी आने पर बेहतर रिटर्न (Return) मिल सके. अगर आप ही शेयर बाजार में निवेश (Invest in Stock Market) के बारे में सोच रहे हैं, तो आपके लिए एक्सपर्ट के सुझाए ये 5 स्टॉक्स लेकर आए हैं.

मार्केट एक्सपर्ट और tradeswift के डायरेक्टर संदीप जैन का कहना है कि धैर्य रखने पर शेयर बाजार पैसा बनाकर देता है. इसलिए निवेश का नजरिया हमेशा लंबा होना चाहिए. उन्होंने बताया कि अगर निवेशक 2 से 3 साल के लिए शेयर बाजार में पैसे लगाना चाहते हैं तो फिर उनके लिए ये 5 स्टॉक्स विकल्प हो सकते हैं. संदीप जैन ने लंबी अवधि के निवेशकों के लिए ये 5 स्टॉक्स सुझाए हैं.

Hero Motocorp: इस टू-व्हीलर कंपनी में तेज ग्रोथ की संभावना है. कंपनी इलेक्ट्रिक सेगमेंट पर भी फोकस कर रही हैं. फिलहाल Hero Motocorp के शेयर 2680 रुपये का है. पिछले एक साल से ये शेयर एक दायरे में कारोबार कर रहा है. संदीप जैन की मानें तो लंबी अवधि के निवेशक इस शेयर में दांव लगा सकते हैं.

Panama Petrochem: पेट्रोलियम स्पेशलियटी प्रोड्क्टस क्षेत्र की अग्रणी कंपनी Panama Petrochem लिमिटेड के शेयर खरीद सकते हैं. एक्सपर्ट संदीप जैन का कहना है कि अगर नजरिया लंबा है तो फिर इस शेयर में निवेश कर सकते हैं. फिलहाल एक शेयर की 359 रुपये है और एक साल में शेयर ने करीब 40 फीसदी का रिटर्न दिया है.

Star Cement: सीमेंट सेक्टर में आगे तेजी का अनुमान है, अगर इस सेक्टर में 2 से 3 साल के लिए पैसे लगाना चाहते हैं तो फिर Star Cement के शेयर खरीद सकते हैं. स्टार सीमेंट के एक शेयर की कीमत करीब 102 रुपये है. पिछले एक साल में इस स्टॉक ने मामूली क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? 7 फीसदी का रिटर्न दिया है.

GSFC: Gujarat State Fertilizers & Chemicals Limited के शेयर पिछले 6 महीने से करेक्शन के दौर से गुजर रहा है. इस स्टॉक ने 6 महीने में 24 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है. मौजूदा समय में शेयर 120 रुपये का है. हालांकि इस कंपनी में आगे ग्रोथ की संभावना है. एक्सपर्ट के नजरिये से इस शेयर में लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं.

DCM Shriram Industries Limited: पिछले एक साल में इस स्टॉक ने निवेशकों को निराश किया है. शेयर में करीब 21 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, फिलहाल DCM Shriram Industries के शेयर 70.60 रुपये है. संदीप जैन का कहना है कि 3 साल की अवधि लेकर इसमें फिलहाल दांव लगा सकते हैं.

Investment Tips: एफडी, म्यूचुअल फंड या स्टॉक? जानिए कौन-सा निवेश का बेहतर विकल्प है!

आपको किसी भी निवेश को अपनी जोखिम उठाने की क्षमता और आवश्यकताओं के आधार पर तय करना चाहिए. भ्रम की स्थिति में आपको एक वित्तीय सलाहकार से परामर्श लेना चाहिए.

Investment Tips: एफडी, म्यूचुअल फंड या स्टॉक, जानिए क्या है एक्सपर्ट की राय

Fixed Deposit: फिक्स्ड डिपॉजिट लंबे समय से निवेश का पसंदीदा विकल्प माना जाता रहा है. अब सवाल उठता है, क्या एफडी एसेट या लायबिलिटी है? फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरें हाल ही में बढ़ने के साथ, इसमें निवेश करने या न करने पर बहस फिर से शुरू हो गई है. हालांकि, माना जाता है कि एफडी बाजार से जुड़े उत्पादों जैसे म्यूचुअल फंड की तुलना में अधिक रिटर्न नहीं देते हैं, इसलिए आप उनमें निवेश करने से बच सकते हैं. वहीं, एक पक्ष एफडी में निवेश करने को बेहतर बताता है, क्या विकल्प स्टॉक से बेहतर हैं? क्योंकि वे म्यूचुअल फंड और स्टॉक से अधिक सुरक्षित हैं.

स्‍टॉक मार्केट सेंटिमेंट क्‍या होता है?

जब बाजार चढ़ता है तो मार्केट सेंटिमेंट में मजबूती आती है वहीं, बाजार के गिरने पर मार्केट सेंटिमेंट में कमजोरी आती है.

photo3

2. जब बाजार चढ़ता है तो मार्केट सेंटिमेंट में मजबूती आती है. दूसरे शब्‍दों में कहें तो लोग ज्‍यादा जोखिम लेने के लिए तैयार होते हैं. वहीं, बाजार के गिरने पर मार्केट सेंटिमेंट में कमजोरी आती है. ऐसी स्थितियों में निवेशक सतर्क रुख अपनाते हैं या फिर जोखिम लेने से कतराते हैं.

3. मार्केट सेंटिमेंट हमेशा बुनियादी बातों पर आधारित नहीं होते हैं. कई बार बाजार में भावनाओं में बहकर निवेशक दांव लगाते हैं. यही कारण है कि मार्केट सेंटिमेंट को देखकर दांव लगाने से नफा-नुकसान दोनों हो सकते हैं.

4. प्रतिभूतियों को लेकर निवेशकों की धारणा से उसकी कीमतों में उतार-चढ़ाव आता है. इस उतार-चढ़ाव का डे-ट्रेडर्स और टेक्निकल एनालिस्‍ट्स फायदा उठाते हैं. वे छोटी अवधि में कीमतों में उठापटक से लाभ उठाने की कोशिश करते हैं.

5. मार्केट सेंटिमेंट को नापने के लिए विभिन्‍न तरह के इंडिकेटर्स हैं. इनमें वोलेटिलिटी इंडेक्‍स शामिल है. इसकी मदद से निवेशकों को पता लगता है कि मार्केट सेंटिमेंट किस तरह के हैं.

इस पेज की सामग्री सेंटर फॉर इंवेस्टमेंट एजुकेशन एंड लर्निंग (सीआईईएल) के सौजन्य से. गिरिजा गादरे, आरती भार्गव और लब्धि मेहता का योगदान.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 266
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *