सर्वश्रेष्ठ विदेशी मुद्रा दलाल

ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन

ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन

वर्ष 2022 में उच्च रिटर्न देने वाले भारत में शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

उच्च रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्प

उच्च रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्प

निवेश भारत में संपत्ति बनाने का एक महत्वपूर्ण तरीका है. यह महंगाई को हराने, फाइनेंशियल लक्ष्यों को पूरा करने और अपने आर्थिक भविष्य को स्थिर बनाने में मदद करता है. अपने बैंक अकाउंट में पैसे को रखने की बजाय, आप स्टॉक्स, शेयर्स, म्यूचुअल फंड और फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे विभिन्न विकल्पों में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

यह आपको फाइनेंशियल लक्ष्यों को प्राप्त करने और भारत के टॉप इन्वेस्टमेंट विकल्पों में इन्वेस्ट करके सुरक्षित जीवन जीने के लिए, भविष्य के लिए फाइनेंशियल सुरक्षा बनाने में मदद कर सकता है.

मार्केट में कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान हैं, जिनमें उच्च स्तर के जोखिम होते हैं और अन्य एसेट क्लास की तुलना में लॉन्ग-टर्म में लाभकारी रिटर्न जनरेट करने की क्षमता होती है.

कई इन्वेस्टमेंट प्लान उपलब्ध होने के कारण, सही विकल्प चुनना चुनौतीपूर्ण हो सकता है. नीचे कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान दिए गए हैं, जो सेविंग को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं.

भारत में सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

अगर आप सोच रहे हैं कि पैसे कहां इन्वेस्ट करें, तो यहां कुछ प्रकार के इन्वेस्टमेंट दिए गए हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं:

स्टॉक्स

स्टॉक किसी कंपनी या इकाई के स्वामित्व में हिस्सेदारी को दर्शाते हैं. स्टॉक लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टर के लिए ज़्यादा रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक हैं. लेकिन, ये मार्केट के उतार-चढ़ाव से जुड़े होते हैं, इसलिए पूंजी की हानि का जोखिम हमेशा बना रहता है.

फिक्स्ड डिपॉजिट

जोखिम से बचने वाले इन्वेस्टर के लिए, फिक्स्ड डिपॉजिट एक आदर्श इन्वेस्टमेंट विकल्प है. एफडी आपके डिपॉजिट पर सुरक्षित रिटर्न प्रदान करती है और इस पर मार्केट के उतार-चढ़ाव का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. उच्च-जोखिम लेने वाले इन्वेस्टर भी अपने पोर्टफोलियो को स्थिर बनाने के लिए ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन एफडी, आरईआईटीएस और क्रिप्टो में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुनते हैं.

म्यूचुअल फंड

म्यूचुअल फंड, फंड मैनेजर द्वारा मैनेज किए जाने वाले इन्वेस्टमेंट टूल्स हैं, जो लोगों के पैसे को संग्रह करते हैं और विभिन्न कंपनियों के स्टॉक और बॉन्ड में इन्वेस्ट करते हैं, ताकि रिटर्न मिल सके. आप शुरुआत में छोटी डिपॉजिट राशि से शुरू करके भी अच्छा-खासा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं.

सीनियर सिटीज़न सेविंग स्कीम

रिटायर ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन हो चुके लोगों के लिए सीनियर सिटीज़न सेविंग स्कीम एक लॉन्ग-टर्म सेविंग विकल्प है. यह उन लोगों के लिए एक आदर्श विकल्प है जो रिटायरमेंट के बाद एक स्थिर और सुरक्षित आय प्राप्त करना चाहते हैं.

पब्लिक प्रॉविडेंट फंड

पीपीएफ भारत में एक विश्वसनीय इन्वेस्टमेंट प्लान है. इन्वेस्टमेंट प्रति वर्ष मात्र रु. 500 से शुरू है और इन्वेस्ट किए गए मूलधन, अर्जित ब्याज़ और मेच्योरिटी राशि पर टैक्स से छूट दी जाती है. इसका लॉक-इन पीरियड 15 वर्षों का है, जिसमें विभिन्न पड़ावों पर आंशिक निकासी की अनुमति दी जाती है.

एनपीएस

एनपीएस, लाभदायक सरकार समर्थित इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक है, जो पेंशन के विकल्प प्रदान करता है. आपके फंड बॉन्ड, सरकारी सिक्योरिटीज़, स्टॉक और अन्य इन्वेस्टमेंट विकल्पों में इन्वेस्ट किए जाते हैं. लॉक-इन अवधि इन्वेस्टर की आयु द्वारा निर्धारित की जाती है, क्योंकि जब तक इन्वेस्टर 60 वर्ष की आयु का नहीं होता, तब तक यह स्कीम मेच्योर नहीं होती है.

रियल एस्टेट

रियल एस्टेट, भारत के सबसे तेज़ी से बढ़ते सेक्टर्स में से एक है, जिसमें बेहतरीन संभावनाएं हैं. भारत के कई इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से फ्लैट या प्लॉट खरीदना भी सर्वश्रेष्ठ विकल्प में से एक है. क्योंकि प्रॉपर्टी की दर हर छह महीने में बढ़ सकती है, इसलिए जोखिम कम होता है और रियल एस्टेट एक ऐसे एसेट के रूप में काम करता है, जो लंबे समय में उच्च रिटर्न प्रदान करता है.

गोल्ड बॉन्ड्स

सोवरेन गोल्ड बॉन्ड सरकारी सिक्योरिटीज़ हैं, जो सोने के ग्राम में मूल्यांकित किया जाता है. रिज़र्व बैंक, भारत सरकार की ओर से फिज़िकल गोल्ड रखने के विकल्प के रूप में बांड जारी करता है. इन्वेस्टर को कैश में इश्यू प्राइस का भुगतान करना होता है, और मेच्योरिटी पर बॉन्ड को कैश में रिडीम किया जा सकता है.

आरईआईटीएस

आरईआईटी, या रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट, ऐसी कंपनियां होती हैं, जो कई प्रॉपर्टी सेक्टर में, आय प्रदान करने वाले रियल एस्टेट का मालिक होती हैं या फाइनेंस करती है. इन रियल एस्टेट कंपनियों को आरईआईटी के रूप में पात्रता प्राप्त करने के लिए कई आवश्यकताओं को पूरा करना होता है. अधिकांश आरईआईटी प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेड होता है, जो इन्वेस्टर को कई लाभ प्रदान करता है.

क्रिप्टो

क्रिप्टोकरेंसी, या क्रिप्टो, करेंसी का एक रूप है, जो डिजिटल या वर्चुअल रूप से मौजूद है और ट्रांज़ैक्शन सुरक्षित करने के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग होता है. क्रिप्टोकरेंसी के पास केंद्र द्वारा जारी होने या विनियमित किए जाने वाला प्राधिकरण नहीं है; बल्कि ट्रांजैक्शन को रिकॉर्ड करने और नई यूनिट जारी करने के लिए डिसेंट्रलाइज़्ड सिस्टम का उपयोग किया जाता है.

आपको अपने पैसे कहां इन्वेस्ट करने चाहिए?

अपनी जोखिम क्षमता के आधार पर, आप या तो मार्केट-लिंक्ड या मार्केट से अप्रभावित रहने वाले इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुन सकते हैं. मार्केट से जुड़े इन्वेस्टमेंट में अधिक रिटर्न मिलते हैं, लेकिन ये हमेशा सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान नहीं होते क्योंकि इनमें पूंजी खोने का जोखिम रहता है. तुलना में, फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे इन्वेस्टमेंट टूल, फंड की अधिक सुरक्षा प्रदान करते हैं. बजाज फाइनेंस एक ऐसा फाइनेंसर है जो उच्च एफडी दरों और फंड की सुरक्षा का दोहरा लाभ प्रदान करता है.

जोखिम उठाने की क्षमता आपके ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन इन्वेस्टमेंट के विकल्पों को किस तरह प्रभावित करती है

अधिकांश इन्वेस्टमेंट विकल्पों में कुछ अस्थिरता होती है, और आमतौर पर जब जोखिम का स्तर अधिक होता है, तो इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न भी अधिक होता है. इसलिए, ये हैं आपके पास निवेश के बेस्टये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन ऑप्शन अक्सर इन्वेस्टमेंट के निर्णय इन्वेस्टर्स की जोखिम क्षमता के आधार पर लिए जाते हैं.

कम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट: फिक्स्ड-इनकम विकल्पों में बॉन्ड, डिबेंचर, फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम, और सरकारी सेविंग स्कीम शामिल हैं.

मध्यम-जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट: डेट फंड, बैलेंस्ड म्यूचुअल फंड, और इंडेक्स फंड इस कैटेगरी में आते हैं.

अधिक जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट: अस्थिरता वाले इन्वेस्टमेंट में स्टॉक और इक्विटी म्यूचुअल फंड जैसे विकल्प शामिल हैं.

बजाज फाइनेंस एफडी सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक क्यों है

  • प्रति वर्ष 7.85% तक की उच्च ब्याज़ दरें. द्वारा एफएएए और इकरा द्वारा एमएएए की उच्चतम सुरक्षा रेटिंग के साथ समय-समय पर भुगतान का विकल्प
  • समय से पहले निकासी से बचने के लिए एफडी पर लोन

बजाज फाइनेंस एफडी में इन्वेस्ट करना अब पहले से भी आसान है. हमारी एंड-टू-एंड ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट प्रोसेस के साथ अपने घर के आराम से अपनी इन्वेस्टमेंट यात्रा शुरू करें.

SIP पर ऐसे बढ़ रहा लोगों का भरोसा, 500 रुपये का निवेश भी बना सकता है करोड़पति

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी SIP निवेशकों के बीच एक पसंदीदा ऑप्शन बनकर सामने आ रहा है. अक्टूबर में SIP में रिकॉर्ड निवेश हुआ है. अक्टूबर में SIP फ्लो बढ़कर 13,041 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है.

SIP पर ऐसे बढ़ रहा लोगों का भरोसा, 500 रुपये का निवेश भी बना सकता है करोड़पति

TV9 Bharatvarsh | Edited By: मनीष रंजन

Updated on: Nov 11, 2022 | 12:45 PM

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी SIP निवेशकों के बीच एक पसंदीदा ऑप्शन बनकर सामने आ रहा है. अक्टूबर में SIP में रिकॉर्ड निवेश हुआ है. अक्टूबर में SIP फ्लो बढ़कर 13,041 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है. इससे पिछले महीने यह 12,976 करोड़ रुपये रहा था. वहीं, इक्विटी स्कीम्स में निवेश गिरकर 9,390 करोड़ रुपये हो गया है. जबकि, सितंबर में यह 14,100 करोड़ रुपये रहा था. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के डेटा से यह जानकारी मिली है. अब सवाल यह उठता है कि लोग SIP में निवेश की ओर आकर्षित क्यों हो रहे हैं, आइए इसके बारे में जान लेते हैं.

SIP क्या है?

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान या SIP निवेश का एक जरिया है, जिसके जरिए आप म्यूचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं. इसमें एक तय राशि को समय-समय पर निवेश किया जा सकता है. यह समयावधि मासिक, तिमाही या सेमी-एनुअली आदि हो सकती है. जब इस तरीके से लगातार निवेश करते हैं, तो आपके लिए अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करना आसान हो जाता है.

SIP कैसे काम करता है?

जब आप SIP के जरिए निवेश करते हैं, तो आप एक तय अवधि में तय राशि को लगाते हैं. इस राशि से आप कुछ फंड्स यूनिट को खरीदते हैं. अगर आप यह लंबे समय तक करना जारी रखते हैं, को आप फंड में उसके हाई और लो के दौरान भी पैसा लगाते हैं. यानी आपको बाजार का समय देखने की जरूरत नहीं पड़ती है. बाजार के समय को ट्रैक करना मुश्किल हो सकता है. क्योंकि व्यक्ति गलत समय पर निवेश कर सकता है. SIP में अनिश्चित्ता की बात नहीं रहती है. इसकी सबसे बड़ी खास बात है कि इसमें आप 500 रुपए का निवेश करके भी लंबी अवधि में करोड़ों का फंड बना सकते हैं.

SIP में निवेश के बेनेफिट्स

कम राशि से शुरू होगा निवेश

आप SIP के जरिए म्यूचुअल फंड्स में केवल 500 रुपये प्रति महीने में निवेश शुरू कर सकते हैं. यह निवेश करने का एक बेहद किफायती तरीका है, जिसमें आपकी जेब को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है. अपनी इनकम बढ़ने के साथ, आप SIP स्टेप अप फीचर के जरिए अपनी मासिक निवेश की राशि को बढ़ा सकते हैं. म्यूचुअल फंड्स हाउस निवेशकों को अपनी एसआईपी को टॉप-अप करने की भी इजाजत देते हैं. तो, अगर आप 500 रुपये सा 1,000 रुपये प्रति महीने ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन के साथ निवेश शुरू करते हैं, तो आप कई सालों में ज्यादा निवेश कर सकते हैं. इस तरीके से आप अपने निवेश के लक्ष्य पर जल्द पहुंच जाएंगे.

निवेश करने का आसान तरीका

SIP निवेश करने का एक आसान तरीका है. ज्यादातर निवेशकों की तरह, आपके पास ज्यादा मार्केट रिसर्च और एनालिसिस के लिए समय नहीं होता है. तो, केवल आपको इसमें एक अच्छा फंड चुनना है. आप बैंक को स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन्स दे सकते हैं और SIP आपके मासिक निवेश का ध्यान रखेगा.

2020: नए साल में निवेश करने के लिए ये है 5 बेस्ट ऑप्शन, कमाई में होगा 100% इजाफा

आपके पास भी अच्छा मौका है कि आप बचत और इन्वेस्टमेंट के लिए नए साल की शुरूआत में ही रिजॉल्यूशन ले सकते हैं कि कहां, कितना और कैसे निवेश करें। यहां हम आपको बेहतरीन तरीके बताएंगे जिसकी मदद से आप अपनी आमदनी में काफी हिजाफा कर सकते हैं।

5 best options to invest in 2020, Fixed Income, Risk cover, Liquidity, commodities, real estate | 2020: नए साल में निवेश करने के लिए ये है 5 बेस्ट ऑप्शन, कमाई में होगा 100% इजाफा

रियल एस्टेट में भी आपको सोने में निवेश करने जितना फायदा मिलता है।

Highlights रिक्स कवर में निवेश में करना एक बेहतर उपाय है। कमोडिटीज में निवेश करने का सबसे ज्यादा फायदा है।

साल 2019 खत्म होने में बस कुछ ही दिन बाकी रह गए हैं। इसके बाद नए साल 2020 का आगाज हो जाएगा। ज्यादातर लोग साल नए साल के शुरूआत में कई रिजॉल्यूशन लेते हैं। ऐसे में आपके पास भी अच्छा मौका है कि आप बचत और इन्वेस्टमेंट के लिए नए साल की शुरूआत में ही रिजॉल्यूशन ले सकते हैं कि कहां, कितना और कैसे निवेश करें। यहां हम आपको बेहतरीन तरीके बताएंगे जिसकी मदद से आप अपनी आमदनी में काफी हिजाफा कर सकते हैं।

फिक्सड इनकम (डेट फंड)

फिक्सड इनकम को डेट फंड भी कहते हैं। यह एक प्रकार का म्यूचुअल फंड है। डेट फंड स्टेबल, लिक्विड और टैक्स देनदारी के लिए एक अच्छा ऑपशन है। इसमें अधिकतर लोग पसंद निवेश करना पसंद करते हैं। इसमें निवेशकों का ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन पैसा डेट इंस्ट्रूमेंट में लगाया जाता है। बता दें कि कॉल मनी, बॉन्ड, डिबेंचर्स, सरकारी सिक्योरिटीज, डिपॉजिट सर्टिफिकेट और कमर्शियल पेपर को डेट इंस्ट्रूमेंट कहते हैं। इसे आप अपनी जरूरतों के हिसाब से चुन सकते हैं। यह 1-15 दिन से लेकर 5-10 साल (long term Bond funds) तक होता है।

रिस्क कवर (Risk Cover)

रिक्स कवर में निवेश में करना एक बेहतर उपाय है। इसमें निवेश करने से आपकी संपत्ति भविष्य में होने वाले किसी भी तरह के रिस्क से सुरक्षित रहती है। रिक्स कवर में निवेश करना बाकि तरह के निवेश से अलग होता है। इसमें निवेश करने से आपका भविष्य सुरक्षित रहता है। अगर कोई अचानक बीमार पड़ जाए और उसके पास पैसा ना हो तो उस समय रिक्स कवर बहुत उपयोगी साबित होता है।

लिक्विडिटी (Liquidity)

आज के समय में पैसों की कितनी जरूरत है। ये किसी को बताने की आवश्यकता नहीं है। इसलिए हर किसी के लिए लिक्विडिटी को लिक्विड फंड बचत रूप में रखें। इसकी मदद से आप अचानक पड़ने वाली जरूरतों को आसानी से पूरा कर सकते हैं। कैश यानी नकद रखने से आप इनकम में भविष्य में होने वाली गिरावट को मैनेज भी कर सकते हैं।

कमोडिटीज (गोल्ड, प्लेटिनम एवं सिल्वर)

कमोडिटीज में निवेश करने का सबसे ज्यादा फायदा है। इसमें आप घर में रखें सोने का निवेश कर सकते हैं। आजकल अधिकतर लोग सोने का इस्तेमाल निवेश करने के लिए करते हैं। इसके अलावा निवेश पोर्टफिलियो में सोना एक बहुत ही जरूरी एसेट साबित हो सकता है। साथ ही सोने के निवेश करने से आपको बड़ती मंहगाई में भी पूरा लाभ मिलता है।

रियल एस्टेट (Real Estate)

रियल एस्टेट में भी आपको सोने में निवेश करने जितना फायदा मिलता है। इसमें निवेश करने का शुरू से ही लोगों का रूझान रहा हैं क्योंकि इसमें निवेश करने से अधिक मुनाफा होता है। इसमें निवेश करने के कई तरीके हैं। जैसा कि आप प्रॉपर्टी खरीद कर उसे किराये पर देकर कमाई कर सकते हैं। इसके अलावा आप स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड रियल एस्टेट कंपनी में इक्विटी खरीद कर भी निवेश कर सकते हैं।

हर महीने के सिर्फ 1000 रुपये आपको बना सकते हैं लखपति! जानिए कैसे?

-Best Investment Plans: भविष्य को सुरक्षित करने के लिए बचत करना बेहद जरूरी है।
-इसके लिए सबसे अच्छा ऑप्‍शन है निवेश।
-निवेश करने के लिए यह जरूरी नहीं है कि आपको पास ढेरों पैसे होने चाहिए, आप छोटे-छोटे निवेश से भी अच्छा धन बटौर सकते हैं।
-आप हर महीने 500 या 1000 रुपये भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।

Published: September 12, 2020 04:06:03 pm

नई दिल्ली।
Best Investment Plans: भविष्य को सुरक्षित करने के लिए बचत करना बेहद जरूरी है। इसके लिए सबसे अच्छा ऑप्‍शन है निवेश। लेकिन, सही जगह और सही समय पर निवेश करना भी जरूरी है। निवेश करने के लिए यह जरूरी नहीं है कि आपको पास ढेरों पैसे होने चाहिए, आप छोटे-छोटे निवेश से भी अच्छा धन बटौर सकते हैं। आप हर महीने 500 या 1000 रुपये भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। मार्केट में ऐसी कई स्कीम्स हैं, जहां आप निवेश कर सकते हैं। हम आपको ऐसी पांच स्कीम्स के बारे में बता रहे हैं, जहां आप 1000 रुपये निवेश कर लखपति बन सकते हैं।

investment invest 1000 rs per month earn more than lakh know details

म्यूचुअल फंड्स में निवेश
आप म्यूचुअल फंड्स ( Mutual Fund ) में निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। सबसे अच्छी बात है कि यहां आप हर महीने मिनिमम 500 रुपये का निवेश भी कर सकते हैं। ये उनके लिए सबसे अच्छा विकल्प है, जो शेयर बाजार की ज्यादा जानकारी नहीं रखते। Mutual Fund स्कीम आप अपने हिसाब से ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन चुन सकते हैं। आप Mutual Fund के डायरेक्ट प्लान में निवेश कर सकते हैं, यहां आपको कमीशन नहीं देना पड़ता है। इसलिए लंबी अवधि के निवेश में आपका रिटर्न बहुत बढ़ जाता है। आप SIP के जरिये इसमें निवेश कर सकते हैं। इसके अलावा इक्विटी म्यूचुअल फंड ( Equity Mutual Fund ), डेट म्यूचुअल फंड ( Debt Mutual Fund ) या हाइब्रिड म्यूचुअल फंड स्कीम ( Hybrid Mutual Fund ) में भी निवेश ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन कर सकते हैं।

शेयर में करें निवेश
शेयर बाजार में कई कंपनियों में आप हर महीने 1000 रुपये निवेश कर सकते हैं। इससे आपका पोर्टफोलियो अच्छा बना सकता हैं। आपको ऐसी कंपनियों में निवेश करना चाहिए जो अच्छा ग्रोथ कर रही हैं और उनके शेयर की कीमत 1000 रुपये से कम है, इससे आपको काफी फायदा होगा। ध्यान रखें कि शेयर खरीदने से पहले कंपनी के बारे में अच्छे से रिसर्च कर लें।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड
पोस्ट ऑफिस की पब्लिक प्रोविडेंट फंड में जमा राशि पर सालाना 7.1 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। इसमें व्यक्ति एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख का निवेश कर सकते हैं। स्कीम में पैसे जमा आप एकमुश्त राशि या 12 किस्तों में कर सकते हैं। इसमें मैच्योरिटी की अवधि 15 साल है। पीपएफ खाते में जमा राशि का इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C में डिडक्शन क्लेम की जा सकती है। इस पर मिलने वाला ब्याज पूरी तरह टैक्स फ्री है। 15 साल तक अगर आप PPF में हर महीने 1000 रुपये जमा करते हैं तो कुल जमा राशि 1,80,000 हो जाती है, लेकिन बदले में आपको 3,25457 रुपये मिलेंगे।

रेकरिंग डिपॉजिट ( RD )
रिकरिंग डिपॉजिट ( RD ) स्कीम में आप छोटी-छोटी सेविंग करके बड़ी रकम तैयार कर सकते हैं। आप RD में रोजाना सिर्फ 100 रुपए निवेश कर बड़ी रकम तैयार कर सकें। इसकी अधिकतम मेच्योरिटी 10 साल की है। इसमें ग्राहकों को 3% से लेकर 9% तक interest मिलता है। यह भी फिक्स्ड डिपोडिट की तरह फाइनेंशियल इन्वेस्टमेंट आप्शन है।

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट ( NSC )
नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट में आपको में 6.8 फीसदी सालाना रिटर्न मिलेगा। इसकी मैच्योरिटी अवधि 5 साल की है, लेकिन आप इसे पांच-पांच साल के लिए 5 बार आगे बढ़ा सकते हैं। लांग टाइम के लिए ऐसा इंवेस्ट करने पर आपकी छोटी-सी जमापूंजी लाखों में तब्दील हो सकती है। इस योजना के तहत आप 100, 500, 1000, 5000 और 10 हजार रुपए से निवेश कर सकते हैं। वैसे इसमें अधिकतम सीमा नहीं है इसलिए आप चाहे तो इससे भी ज्यादा रकम इंवेस्ट कर सकते हैं। बहुत से लोग रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली एक मुश्त रकम को इसमें जमा करते हैं। इससे उन्हें अच्छा रिटर्न मिलता है।

अब मिलेगा PPF पर कम इंट्रेस्ट, ये ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन हैं बाकी इन्वेस्टमेंट ऑप्शन

पिछले कुछ सालों में लगातार पीपीएफ का इंट्रेस्ट रेट गिरा है. अब अगर बाकी इन्वेस्टमेंट ऑप्शन पर गौर किया जाए तो आपके लिए अन्य कई विकल्प सामने हैं. चलिए देखते हैं भारत में निवेश के कुछ बेस्ट ऑप्शन

होम -> इकोनॉमी

पीपीएफ का इंट्रेस्ट रेट अब कम हो गया है. इसी महीने से पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) के रेट में 10 बेसिस प्वाइंट तक की कटौती की गई है. 100 बीपीएस का मतलब एक पर्सेंट और अगर जनरल इंट्रेस्ट रेट 25 बीपीएस कम हुआ है तो उसका मतलब ये कि 0.25 प्रतिशत कम हुआ है. यहां पीपीएफ के मामलते में इंट्रेस्ट रेट 0.10 प्रतिशत कम हो गया है.

पिछले कुछ सालों में लगातार पीपीएफ का इंट्रेस्ट रेट गिरा है. ये सही बात है कि बैंकों की कई स्कीम के मुकाबले पीपीएफ में ज्यादा ब्याज मिलता है, लेकिन अगर गौर किया जाए तो पीपीएफ 10-15 साल पहले सबसे बेहतर ऑप्शन था सेविंग्स का, लेकिन अब बहुत से अन्य ऑप्शन भी सामने आ गए हैं.

कौन से अन्य ऑप्शन है सेविंग्स के लिए.

investment, mutual fund, savings, ppf

1. म्यूचुअल फंड.

टीवी पर आपने एड जरूर देखा होगा जिसमें म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट के लिए प्रेरित किया जाता है. जो लोग इक्विटी और बॉन्ड में इन्वेस्ट करना चाहते हैं और थोड़ा रिस्क उठा सकते हैं उनके लिए म्यूचुअल फंड एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है. स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए अगर आपके पास बेहतर इन्वेस्टमेंट प्लान होगा तो बेहतर रिटर्न मिलेगा.

2. डायरेक्ट इक्विटी या शेयर खरीदना.

म्यूचुअल फंड में अगर आपने इन्वेस्ट नहीं किया ना उनमें भिड़ना चाहते हैं तो सीधे कंपनी के शेयर भी खरीद सकते हैं. हालांकि, जब तक आपके पास अच्छे सलाहकार ना हो या आप मार्केट के एकदम अच्छे जानने वाले ना हों आपको सीधे इन्वेस्ट करने से बचना चाहिए.

3. रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट.

सबसे ज्यादा फायदा रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट में ही है. आप ईएमआई देते रहिए और 2-4 साल बाद प्रॉपर्टी बेच दीजिए. आपका लोन पूरा भरने के पैसे तो आपको मिल ही जाएंगे साथ ही ऊपर से थोड़ा प्रॉफिट भी मिल जाएगा. हालांकि, ऐसा करने के लिए आपको काफी लंबा इन्वेस्टमेंट करना होगा.

4. NPS (नेशनल पेंशन स्कीम).

नेशनल पेंशन स्कीम एक तरह की कॉन्ट्रिब्यूशन स्कीम होती है जिसमें आप इन्वेस्ट कर सकते हैं. इसे कुछ-कुछ पीपीएफ जैसा ही समझिए.

5. सोने में इन्वेस्टमेंट.

इसका मतलब ये नहीं कि आप सीधे जाएं और सोना खरीद लाएं. इसका मतलब गोल्ड म्यूचुअल फंड, गोल्ड डिपॉजिट स्कीम, गोल्ड ETF आदि में इन्वेस्ट करें जो ज्यादा फायदेमंद होता है.

investment, mutual fund, savings, ppf

6. पोस्ट ऑफिस सेविंग्स स्कीम.

भारत में सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाली कुछ इन्वेस्टमेंट स्कीम में से एक है पोस्ट ऑफिस सेविंग्स स्कीम. इसमें भी मासिक किश्त देनी होती है और रिटायरमेंट के बाद नियमित आमदनी का एक अच्छा विकल्प है. ये सबसे बेस्ट इसलिए है क्योंकि भले ही इंट्रेस्ट कम हो, लेकिन इस सरकारी स्कीम में कोई रिस्क नहीं होता.

7. कंपनी फिक्स्ड डिपॉजिट.

ये आम बैंक एफडी से अलग होती है. इसमें इंट्रेस्ट रेट काफी ज्यादा होता है. हालांकि, इन्वेस्ट करने से पहले आपको अच्छे से देखना होगा क्योंकि इसे आप मेच्योरिटी से पहले तोड़ नहीं पाएंगे. जिन्हें काफी लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करना है और कुछ रिस्क उठा सकते हैं उनके लिए ये अच्छा ऑप्शन है.

रेटिंग: 4.13
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 390
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *