महत्वपूर्ण लेख

Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है?

Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है?

इंजिनियर कौन होता है और इंजीनियरिंग कितने टाइप की होते हैं

Engineer kon hota hai : - दोस्तों आपने इंजीनियर शब्द जरूर सुना होगा, क्या आपको पता है कि इंजिनियर शब्द का मतलब क्या है? इंजिनियर कौन होता है इंजीनियरिंग कितने टाइप की होती है अगर आपको भी इन सभी सवालों के बारे में नहीं पता तो आज हम आपको इसी के बारें में छोटी सी जानकारी देने वाले हैं तो इस आर्टिकल को शुरू से लेकर के अंत तक जरूर पढ़िएगा

दोस्तो सबसे पहले हम जानते हैं और समझते है कि

इंजीनियर शब्द का मतलब क्या है और इंजीनियर कौन होता है ?

अगर हम इंजिनियर का मतलब सरल शब्दों में समझे तो इसका मतलब, किसी वस्तु का आविष्कार करना, अगर कोई व्यक्ति किसी वस्तु पर नए तरीके से रिसर्च करके बनाता है तो उसे हम इंजिनियर कहते हैं

जैसा कि आपको मालूम ही होगा कि हमारे देश मे जितने भी हथियार, बिल्डिंग्स, रोड्स, पुल, ब्रिज, हाउस, कार, ट्रक, मोबाइल फोन, डैम इत्यादि बनते हैं, ये सभी ऐक इंजिनियर द्वारा डिजाइन करके बनाए जाते हैं

जैसे कि मान लीजिए हमारे देश में किसी भी जगह ब्रिज बनाया जाता है तो उससे पहले यह जिम्मेदारी इंजिनियर को दी जाती है, इसके बाद इंजिनियर उस ब्रिज का स्ट्रकचर डिजाइन करना, वहां की मिट्टी को चैक करना इत्यादि रिसर्च करके, बाद में वहां पर ब्रिज बनाया जाता है, लेकिन अगर वह ब्रिज टूट जाता है या किसी भी प्रकार से नुकसान हो जाता है तो वह जिम्मेदारी इंजिनियर की होती है

तो दोस्तो अब आप अच्छी तरीके से Engineer ka mtlb जान गए होंगे

इंजीनियरिंग कितने टाइप की होती है ?

वैसे तो इंजीनियरिंग के टाइप देखें तो अलग अलग वस्तु का निर्माण करने से अलग अलग तरीके से इंजीनियरिंग होती है, लेकिन मुख्य तौर से 6 तरीके की इंजीनियरिंग होती है जैसे

1. मैकेनिकल इंजीनियरिंग - यह ऐक ऐसी इंजीनियरिंग है, जिसे हम अपनी जिंदगी में रोजाना इस्तेमाल करते हैं जैसे कि मशीन, साइकिल, कार, ट्रक, बस, इलेक्ट्रिसिटी इत्यादि जैसे -

2. सिविल इंजीनियरिंग - यह इंजीनियरिंग ऐसी है जिसमे हाउस, डैम, पुल, बिल्डिंग, रोड्स, मौल, ब्रिज आदि का स्ट्रकचर तैयार करके डिजाइन किया जाता है और इस इंजीनियरिंग में भी बहुत सारी इंजीनियरिंग आती है जैसे -

3. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग - इस इंजीनियरिंग में वे सभी इंजीनियर आते हैं जो प्राइवेट या गवर्मेंट इलेक्ट्रिसिटी में काम करते है, और इसमें बिजली विभाग से रिलेटेड इंजीनियरिंग होती है जैसे

4. कैमिकल इंजीनियरिंग - इस इंजीनियरिंग में रसायनों व रासायनिक प्रॉडक्ट्स के बारे में रिसर्च करके प्रोडक्ट्स बनाना होता है और इसमें भी बहुत सारी इंजीनियरिंग होती है जैसे

> सुस्टेनाबिलिटी डिजाइन इंजीनियरिंग

5. मैनेजमेंट इंजीनियरिंग - इसमें आपको मैनेजमेंट से संबंधित जितनी भी इंजीनियरिंग होती है वो सभी इसमें आती है जैसे

> मैन्युफैक्चरिंग मैनेजमेंट इंजीनियरिंग

6. जियोटेकनिकल इंजीनियरिंग -

> प्रोजेक्ट मैनेजमेंट इंजीनियरिंग

इनके अलावा फ्लाइट इंजीनियर, नैनोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजिनियर, वाटर इंजिनियर, ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, रबर और प्लास्टिक इंजीनियरिंग और मिलिट्री इंजीनियरिंग

इत्यादि इनके अलावा भी बहुत सारी इंजीनियरिंग होती है जो अलग अलग कामों के लिए निर्धारित की जाती है

ये भी पढ़े

Final word

अगर आपको एजुकेशन और कैरियर से रिलेटेड कोई भी जानकारी जाननी हो तो आप हमें कॉमेंट करके बता सकते हैं हम आपके सवाल का जवाब जरूर देंगे

तो दोस्तों आज आपने जाना कि इंजीनियरिंग के कितने टाइप होते है और इंजीनियर कौन होता है, अतः हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको जरूर पसंद आयी होगी धन्यवाद्

SUNIL PRAJAPAT

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम सुनील प्रजापत है मैंने अभी ग्रेजुएशन पूरी की है। ईस वेबसाइट पर हम आपको हिंदी भाषा में पैसे कमाने के तरिके, बिजनेस आइडियाज, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी, फाइनेंस इत्यादि से संबंधित जानकारी देने वाले हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर से फॉलो करिएगा।

घर बैठे काम करके Google से पैसे कैसे कमाए ?

आज के दौर में पैसे की जरूरत किसको नहीं होती सबको ही पैसे की जरूरत है फिर चाहे वो कोई इंसान बेरोज़गार है, या कॉलेज पड़ने वाला विधार्थी या कोई गृहिणी/हाउसवाइफ बेरोज़गार को नौकरी चाहिए पैसा कमाने के लिए और विधार्थी को नौकरी चाहिए पॉकेट मनी के लिए। आज इस लेख में हम आपको गूगल/Google से पैसे कमाने के वो तरिके बतायंगे जिसकी मदद से आप अगर चाहे तो अपना एक अच्छा राजस्व उत्पन्न कर सकते हैं।

बस शर्त यह है की इसमें आपको मेहनत करनी है और धैर्य रखना पड़ेगा क्युकी कुछ भी एक दम से नहीं मिलता ज़िन्दगी में अगर कुछ करना है तो सबसे पहले उसके काबिल बनना पड़ता है और काबिल बनने के लिए मेहनत करनी पड़ती है।

जैसा की आप सभी जानते ही होंगे की भारत देश में कम से कम 54 करोड़ लगभग इंटरनेट यूजर है जो इंटरनेट का रोजाना इस्तेमाल करते है, आपने खुद ये बात आजमाई होगी की जब भी आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हो तो उसमे विज्ञापन आपको दिखाए जाते है, बस यही विज्ञापनों की मदद से वो लोग जिनकी सेवाएं आप इंटरनेट में इस्तेमाल करते हो वो कमाते है।

गूगल/Google से पैसे कैसे कमाए ?

गूगल/Google अपने आप में ही एक खुला स्रोत है पैसे कमाने का बस आपको ये बात का ध्यान रखना होगा की जो भी आप काम करे उसमे थोड़ा धैर्य रखे, क्युकी अगर आपको रातो रात अमीर बनना है तो ये लेख आपके लिए नहीं है।

गूगल/Google से पैसे कमाने के कई तरीके हैं। लेकिन इस लेख में हम उन 2 तरीको की बात करंगे जिससे अगर आप मेहनत करते है तो आजीवन पैसे कमा सकते है।

यूट्यूब(Youtube) -

यूट्यूब(Youtube) एक वीडियो सांझा करने वाली app है(Video sharing app) जिसकी मदद से आप किसी विषय में वीडियो बनाकर डाल सकते है और जिसको भी उस विषय में कुछ जानना है वो उस वीडियो को देखेगा।

यूट्यूब से पैसे कमाने के लिए क्या करना होगा ?

इसके लिए सबसे पहले आपके पास एक gmail id होनी चाहिए, उस gmail id से आप यूट्यूब में अकाउंट बनायंगे, अकाउंट बनाने के बाद आपको उसमे ही एक चैनल बनाना पड़ेगा, और सबसे जरूरी बात आपको अपना विषय पता होना चाहिए की आप किस विषय के ऊपर वीडियो बना सकते है, और ध्यान रहे आपके चैनल का नाम भी आपके विषय को दर्शाता हो। आपकी जिसमे भी दिलचस्पी है उसके बारे में आप वीडियो बना सकते है।

  • Cooking and Recipes
  • Gaming
  • Product Reviews
  • Health and Fitness Tips
  • Traveling
  • Gadgets and Technology
  • Lifehack
  • Personal Vlogging
  • Restaurant and Food Reviews
  • Humor

इनमे से कोई भी विषय में आप अपना चैनल बना के उसमे वीडियो डाल सकते है जिसको भी आपके विषय से सम्भंदित कुछ देखना होगा वो यूट्यूब में सर्च करेगा और आपका Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? बनाया वीडियो उसको दिखाई देगा। कुछ जरूरी बाते जो आपको ध्यान में रखनी होगी, हमेशा अपना कंटेंट/content सही रखे, दुसरो की वीडियो अपने चैनल में ना डाले इससे आपको कॉपीराइट/copyright क्लेम मिल सकता है और आपका चैनल भी बंद हो सकता है।

यूट्यूब से पैसे कैसे बनेगे -

जब आप अपने चैनल में वीडियो बनाके डालते है और उसमे जब अच्छे खासे व्यूज आने लग जाते है या मिनीमम 1 हजार सब्सक्राइबर्स हो जाते है तब आपको Google adsense से अप्रूवल लेकर यूट्यूब की monetization On करने का ऑप्शन मिलता है उसको On करने के बाद आपके वीडियो में एड्स/ads दिखना शुरू हो जाते है और उसके जरिये आपको पैसा मिलता है।

ब्लॉग्गिंग(Blogging) -

अगर आप सर्मिले किस्म के इंसान है और आपको वीडियो बनाने में दिक्कत है, तो फिर आप ब्लॉगर/Blogger के साथ जुड़ सकते है ब्लॉगर गूगल/Google का ही एक प्लेटफार्म है जिसके जरिये आप अपने विषय का चयन करके उसके बारे में लिख सकते है इसको ही हम ब्लॉग्गिंग(Blogging) बोलते है।

Raju Shrivastav Update : मजाक उड़ाने पर पाकिस्तान से मिली थी धमकी, फिल्मों से राजनीति तक किया था काम

राजू श्रीवास्तव मिमिक्री, कॉमेडी और अभिनय के लिए जाने जाते हैं. लेकिन इन दिनों उनका स्वास्थ काफी ज्यादा खराब है जिस वजह से वे सुर्खियों (Raju Shrivastav News) में बने हुए हैं.

By रवि नामदेव Last updated Sep 21, 2022 821 0

raju shrivastav health update

राजू श्रीवास्तव एक ऐसा नाम है जिसे भारत में हर कोई कॉमेडी के लिए जानता है. सच कहे तो कॉमेडी का दूसरा नाम राजू श्रीवास्तव (Raju Shrivastav Updates) ही हैं. राजू श्रीवास्तव मिमिक्री, कॉमेडी और अभिनय के लिए जाने जाते हैं. राजू श्रीवास्तव का हाल ही में निधन हो गया है. 58 वर्ष की उम्र में दिल्ली में उन्होंने अंतिम सांस ली.

अगस्त में ही वे जिम में वर्कआउट करने के दौरान दिल के दौरे का शिकार हुए थे. उस समय उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराया गया था और उनकी हालत नाजुक थी. सर्जरी होने पर भी उनकी हालत में सुधार नहीं देखा गया. अंत में 21 सितंबर 2022 को उनका निधन हो गया.

राजू श्रीवास्तव की जीवनी (Raju Shrivastav Life Facts)

राजू श्रीवास्तव का जन्म 25 दिसंबर 1963 (Raju Shrivastav Birthday) को उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में हुआ था. वे एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे थे और उनके पिता एक मशहूर कवि हुआ करते थे. उनके पिता को लोग ‘बलई काका’ कहकर पुकारते थे.

राजू श्रीवास्तव की रुचि कविताओं को लिखने और सुनाने में नहीं थी. उनकी रुचि थी लोगों को गुदगुदाने में तो वे निकल पड़े इसी राह पर अपना मुकाम खोजने.

राजू को बचपन से ही मिमिक्री का बहुत शौक था. वो फेमस एक्टर की मिमिक्री किया करते थे और लोगों को गुदगुदाया करते थे. लोग उनकी मिमिक्री की काफी तारीफ भी किया करते थे. शायद यही वजह थी कि वो एक्टिंग की दुनिया में आए.

राजू श्रीवास्तव की फिल्में (Raju Shrivastav Movies)

बॉलीवुड में एक बाहरी व्यक्ति का आना बहुत ही संघर्षपूर्ण रहता है. सिर्फ एक फिल्म में छोटा सा रोल पाने के लिए उसे पहले सीरियल में काम करना पड़ता है, एड करने पड़ते हैं, कई जगह पर ऑडिशन देने पड़ते हैं तब जाकर मुश्किल से एक छोटा सा रोल मिलता है.

राजू श्रीवास्तव को ऐसा कुछ भी नहीं करना पड़ा. उनके करियर की शुरुआत फिल्मों में छोटे-मोटे अभिनय से हुई थी. सीरियल में तो वे बाद में काम करने लगे थे।

उनके करियर की पहली फिल्म 1988 में आई ‘तेजाब’ थी जिसमें राजू श्रीवास्तव ने अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित के साथ काम किया था. राजू श्रीवास्तव ने इसके बाद कई सारी फिल्मों में एक्टिंग की. राजू श्रीवास्तव की प्रमुख फिल्में हैं : (Raju Shrivastav Movie List)

तेजाब
मैंने प्यार किया
बाजीगर
मिस्टर आजाद
अभय
आमदनी अठन्नी खर्च रुपैया
वाह तेरा क्या कहना
मैं प्रेम की दीवानी हूँ
जहां जाएगा हमें पाएगा
बिग ब्रदर
बॉम्बे तो गोवा
भावनाओं को समझों
बारोड
टॉइलेट एक प्रेम कथा
फिरंगी

राजू श्रीवास्तव के टीवी सीरियल (Raju Shrivastav TV Serial)

राजू श्रीवास्तव ने भले ही कई सारी फिल्मों में काम किया हो लेकिन उन्हें असली पहचान टीवी शो से मिली. रियलिटी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ उनकी लाइफ के लिए टर्निंग पॉइंट साबित रहा. इस शो ने उन्हें पूरे भारत में एक कॉमेडियन के तौर पर फेमस कर दिया.

राजू श्रीवास्तव के प्रमुख टीवी सीरियल हैं : (Raju Shrivastav TV Serial List)

देख भाई देखक
शक्तिमान
द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज
बिग बॉस
कॉमेडी सर्कर्स
राजू हाजिर हो
कॉमेडी का महामुकाबला
लाफ़ इंडिया लाफ़
नच बलिए
कॉमेडी नाइट विद कपिल
गैंग्स ऑफ हासेपुर
अदालत

राजू श्रीवास्तव की पत्नी कौन हैं? (Who is Raju Shrivastav Wife?)

राजू श्रीवास्तव ने 1 जुलाई 1993 को लखनऊ में शिखा (Raju Shrivastav Wife Name) के साथ शादी की थी. इनकी शादी को 29 साल हो गए Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? हैं. इनके दो बच्चे हैं (Raju Shrivastav Chil) आर्यन और अंतरा.

राजू श्रीवास्तव पोलिटिकल करियर (Raju Shrivastav Political Career)

राजू श्रीवास्तव सिर्फ कॉमेडी या एक्टिंग के लिए ही फेमस नहीं है बल्कि वे राजनीति में भी नजर आ चुके हैं.

राजू श्रीवास्तव को 2014 के लोकसभा इलेक्शन में सपा की ओर से कानपुर सीट पर टिकट दिया गया था लेकिन राजू ने इसे वापस कर दिया.

कुछ दिनों बाद ये BJP में शामिल हो गए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन्हें स्वच्छ भारत अभियान के लिए नामित किया. इन्होंने स्वच्छता को प्रमोट करने के लिए की म्यूजिक विडिओ बनाए और बड़े-बड़े कैम्पेन किए.

पाकिस्तान से मिली धमकी (Raju Shrivastav Pakistan Threat)

राजू श्रीवास्तव को साल 2010 में पाकिस्तान से धमकी मिली थी. असल में उस समय राजू श्रीवास्तव ने पाकिस्तान और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम को लेकर मजाक उड़ाया था जिस पर इन्हें पाकिस्तान से धमकी भरे फोन आए थे.

राजू श्रीवास्तव कॉमेडी जगत का वो सितारा है जिनका नाम ही लोगों को गुदगुदा देता है. इनका गजोदर भईया वाला कैरेक्टर तो लाजवाब है. उस कैरेक्टर को ये आज भी लोगों के साथ रखते हैं.

TeleprompterPM: क्या होता है टेलीप्रॉम्प्टर, जिसे लेकर ट्रोल हुए पीएम मोदी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टेलीप्रॉम्प्टर की खराबी को लेकर ट्रोल (#TeleprompterPM) हो गए हैं.

By आकाश उपाध्याय On Jan 18, 2022 2,767 0

teleprompter kya hai

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषण को लेकर काफी चर्चा में रहते हैं. उनकी रैलियों में लोग काफी दूर से उनके भाषण को सुनने आते हैं. लेकिन इस बार वे अपने भाषण को लेकर ट्रोल हो गए हैं. ट्रोल होने की वजह टेलीप्रॉम्प्टर (#TeleprompterPM) को बताया जा रहा है. टेलीप्रॉम्प्टर में खराबी के चलते पीएम मोदी भाषण देते-देते रुक गए और इसी बात पर वे ट्रोल हो गए. चलिये जानते हैं कि टेलीप्रॉम्प्टर क्या होता है?

टेलीप्रॉम्प्टर क्या होता है? (What is teleprompter and how it works?)

टेलीप्रॉम्प्टर (Teleprompter in hindi) एक डिवाइस होती है जो लिखी गई चीजों को कैमरे पर पढ़ने के काम आती है. जब व्यक्ति कैमरे पर स्पीच दे रहा होता है या फिर कुछ रिकॉर्ड कर रहा होता है तो बड़ी स्क्रिप्ट को याद रख पाना मुश्किल होता है. ऐसे में टेलीप्रॉम्प्टर पर उस स्क्रिप्ट को चलाया जाता है जिसे कैमरे के सामने Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? खड़े व्यक्ति को बोलना होता है.

ये एक तरह का खास उपकरण होता है जिसके सहारे एक वक्ता अपना भाषण पढ़ता है. कई अभिनेता, गीतकार अपनी स्क्रिप्ट को बोलने के लिए इसका प्रयोग करते हैं. इसका सबसे बड़ा लाभ ये होता है कि बोलने वाले को उसकी स्क्रिप्ट याद नहीं करनी पड़ती है. सिर्फ उसे टेलीप्रॉम्प्टर पर देखकर बोलना होता है.

कैसे काम करता है टेलीप्रॉम्प्टर (How Teleprompter works?)

Teleprompter के काम करने का तरीका आसान होता है.

इसे कैमरे के साथ अटेच करके कैमरे के आगे लगाया जाता है. इसमें नीचे की तरफ एक मोनिटर होता है और ऊपर की तरफ एक रिफलेक्टिव ग्लास लगा होता है. मोनिटर पर जो शब्द चल रहे होते हैं वो उस ग्लास पर रिफलेक्ट होकर दिखाई देते हैं.

ये ग्लास कैमरे के सामने ही लगाया जाता है ताकि बोलने वाला कैमरे के सामने रहकर उसे ऐसे पढ़ सके जैसे वो बिना देखे कोई स्क्रिप्ट बोल रहा है. टेलीप्रॉम्प्टर में इस्तेमाल किया जाने वाला ग्लास इस तरीके से लगाया जाता है कि उस पर दिख रही चीजों का Reflection कैमरे पर नहीं होता है.

Teleprompter का उपयोग (Use of Teleprompter)

Teleprompter का मुख्य तौर पर उपयोग कैमरे के सामने किसी भी स्क्रिप्ट को बेझिझक बोलने Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? के लिए होता है.

– इसे न्यूज़ एंकर द्वारा न्यूज़ बोलने के लिए उपयोग किया जाता है.
– नेता इसे अपनी स्पीच को बोलने के लिए करते हैं.
– यूट्यूबर अपनी स्क्रिप्ट को Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? कैमरे के सामने बोलने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं.
– सिंगर अपने गाने के लिरिक्स पढ़ने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं.
– फिल्मों में एक्टर-एक्ट्रेस इसे लंबे डायलॉग बोलने के लिए इस्तेमाल करते हैं.

teleprompter ka upyog

Teleprompter की कीमत (Teleprompter Price in India)

Teleprompter की कीमत डिवाइस पर निर्भर करती है. आप कितना बड़ा और किस डिवाइस के साथ लगने वाला टेलीप्रॉम्प्टर खरीदना चाहते हैं आपको उस हिसाब से इसकी कीमत चुकानी होगी. यदि आप मोबाइल से टेलीप्रॉम्प्टर का उपयोग करना चाहते हैं तो उसकी कीमात 5 से 8 हजार रुपये के बीच होती है. वहीं डीएसएलआर कैमरे के लिए उपयोग किए जाने वाले टेलीप्रॉम्प्टर की कीमत 10 हजार से ज्यादा होती है.

ऑनलाइन फ्री टेलीप्रॉम्प्टर (Free Online Teleprompter)

आप यूट्यूब पर वीडियो बनाते है और उनमें अपना चेहरा नहीं दिखाते हैं तो आप अपनी स्क्रिप्ट को बोलने के लिए ऑनलाइन फ्री टेलीप्रॉम्प्टर का उपयोग भी कर सकते हैं. ऑनलाइन कई सारे टेलीप्रॉम्प्टर हैं जिनका इस्तेमाल आप अपनी स्क्रिप्ट को बोलने के लिए कर सकते हैं.

इन टेलीप्रॉम्प्टर पर आप शब्दों की गति को मैनेज कर सकते हैं, उनके साइज को सेट कर सकते हैं, आप किसी भी भाषा में लिखे गए शब्दों को यहां पढ़ सकते हैं. बस इसके लिए आपके पास कंप्यूटर पर लिखी गई स्क्रिप्ट होना जरूरी है. चलिये जानते हैं ऑनलाइन कौन से फ्री प्लेटफॉर्म हैं जहां आप टेलीप्रॉम्प्टर का उपयोग कर सकते हैं.

Teleprompter के जरिये यदि आप लाइव वीडियो बना रहे हैं और उस पर कोई गलती हो जाती है तो वो काफी बड़ी गलती होती है. ठीक इसी तरह की गलती प्रधानमंत्री मोदी के साथ भी हुई जब वे World Economic Forum Davos Agenda Summit को संबोधित कर रहे थे. TelePrompTer की एक छोटी सी गलती के कारण पीएम मोदी को ट्विटर पर ट्रोल किया जा रहा है.

सापूरजी के लोगों ने कहा, ‘ब्रोकर कब किसे फ्लैट किराये पर दे दे, पता ही नहीं चलता’

सुखोबृष्टि में फ्लैट की संख्या : लगभग 12,000, एरिया : 400 एकड़
लगभग 70% लोग रहते हैं किराये पर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सापूरजी के सुखोबृष्टि के ब्लॉक डी में रहने वाले शुभेंदु दास एमएनसी में काम करते हैं। बुधवार को वह वर्क फ्रॉम होम में ही व्यस्त थे कि अचानक उन्हें खबर मिली कि उनके यहां ब्लॉक बी में एनकाउंटर हुआ है। इसी तरह आईटी कंपनी में काम करने वाले राहुल रॉय भी उस दौरान वर्क फ्रॉम होम कर रहे थे जब उन्हें एनकाउंटर की बात पता चली। गृहिणी रेखा मान्ना और Stock Broker की रोजाना ज़िन्दगी कैसें होती है? देबस्मिता दास घर में ही थीं। गुरुवार को ये सभी लोग उस फ्लैट के पास आये थे जहां एनकाउंटर हुआ था। यहां रहने वाले लोगों के कई तरह के आरोप भी हैं। लोगों का कहना है कि आज बहुत बड़ी घटना हुई तो इसके बाद सब कुछ सामने आया। हालांकि इससे पहले कई तरह की घटनाएं हुईं हैं जिसे लेकर कई बार मेंटेनेंस कमेटी को शिकायत भी की गयी, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।
ब्रोकरों पर लोगों ने मढ़े आरोप
ब्लॉक डी में रहने वाली देबस्मिता दास ने कहा, ‘यहां हालत कुछ ऐसी है कि मालिकों को यह पता भी नहीं होता कि उनके घर में किराये पर कौन रह रहा है। इसका कारण है ब्रोकर। यहां जो ब्रोकर हैं, वे किसी को भी किराये पर दे देते हैं। पुलिस द्वारा इसका सत्यापन भी नहीं किया जाता है। हमारी मांग है कि कम से कम किराये पर रहने वाले लोगों का वेरिफिकेशन हो।’ इसी तरह शुभेंदु दास ने कहा, ‘जब घटना हुई उस समय मैं वर्क फ्रॉम होम कर रहा था। खबर सुनने के बाद मैं यहां आया। यहां काफी चीजें होती रहती हैं जिसे लेकर कई बार हमने शिकायतें भी की हैं। किराये पर रहने वाले लोगों का पुलिस वेरिफिकेशन भी नहीं होता है। किराया 2 लोगों को दिया जाता है, लेकिन वहां रहते हैं 4 से 6 लोग।’ रेखा मान्ना ने कहा, ‘इस तरह की घटना के बाद काफी डर लग रहा है। यहां सुरक्षा के और भी पुख्ता इंतजाम होना चाहिये।’
वीकेंड में खूब होती है पार्टी, इसे लेकर हुआ था विवाद
सापूरजी में रहने वाले लोगों ने कहा कि यहां वीकेंड में तेज आवाज में काफी पार्टी चलती रहती है। अधिकतर कम उम्र के किरायेदार यहां रहते हैं जो कंपनियों में काम करते हैं। वीकेंड पर वे तेज आवाज में पार्टी करते हैं जिस कारण परिवार के साथ रहने वाले लोगों को काफी मुश्किल होती है। इसे लेकर एक बार काफी विवाद भी हुआ था। इस बारे में डी ब्लॉक में रहने वाले राहुल रॉय ने बताया कि गत 12 जनवरी को उन्होंने सुखोबृष्टि के मैनेजमेंट कमेटी को शिकायत की थी कि यहां कई तरह की चीजें अक्सर होती रहती हैं। पत्नी के साथ हुए हादसे का जिक्र करते हुए राहुल रॉय ने कहा, ‘31 दिसम्बर की रात हमारे फ्लैट के पास वाले फ्लैट में ही जोर आवाज में डीजे बजाकर पार्टी चल रही थी। मैं और मेरी पत्नी काफी असहज महसूस कर रहे थे। जब मेरी पत्नी ने इसका विरोध किया तो उस फ्लैट में रह रहे लोगों ने उसके साथ बदतमीजी की। मैं बीच -बचाव करने गया तो उन लोगों ने मुझे मारने की कोशिश की, लेकिन पत्नी बीच में आ गयी जिस कारण उसका सिर फट गया था। यहां मैनेजमेंट कमेटी इस तरह की घटनाओं पर कभी कोई ध्यान नहीं देती।’

मुख्य समाचार

गिरीश मंच में नाटक चलने के दौरान लगी आग, दो न्यायधीशों को सुरक्षित निकाला गया

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि गिरीश मंच में बुधवार को नाटक चलने के दौरान आग लग गयी। इस दौरान आगे पढ़ें »

बंगाल के स्कूल में लगा एक किलोमीटर दूर रहने वाली छात्राओं को भर्ती नहीं करने का नोटिस

पूर्व मिदनापुर : पूर्व मिदनापुर जिला अंतर्गत महिषादल के गयेश्वरी गर्ल्स हाईस्कूल में कक्षा पांच में भर्ती होने वाली छात्राओं के लिए एक नया नियम आगे पढ़ें »

रेटिंग: 4.53
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 117
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *