महत्वपूर्ण लेख

पीपीएफ खाता क्या है

पीपीएफ खाता क्या है
एचडीएफसी बैंक नेटबैंकिंग में साइन इन करें।

पीपीएफ खाता खोलने के तरीके पर स्टेप-बाय-स्टेप गाइड

एक पीपीएफ या पब्लिक प्रोविडेंट फंड छोटे निवेशकों के लिए नियमित रूप से कम रक़म में धन निवेश करके लॉन्ग टर्म वेल्थ बनाने का एक शानदार तरीका है। वास्तव में, निवेश के रूप में ये कई तरह के लाभ प्रदान करते हैं, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं।

हालांकि, सबसे आम सवाल अक्सर पूछा जाता है कि 'पीपीएफ खाता कैसे खोलें? 'जवाब सरल है। आप किसी बैंक या डाकघर में एक पीपीएफ खाता खोल सकते हैं।

यदि आप एचडीएफसी बैंक के मौजूदा ग्राहक हैं, तो आप मिनटों में एक पीपीएफ खाता ऑनलाइन खोल सकते हैं। लेकिन अगर आप बैंकिंग के पारंपरिक तरीके को पसंद करते हैं, तो आप हमारे ब्रांच का रुख़ पीपीएफ खाता क्या है भी कर सकते हैं।

पीपीएफ खाता खोलने के लिए आपको क्या चाहिए?

पीपीएफ खाता खोलने के लिए, आपको निम्नलिखित डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होगी:

पहचान प्रमाण (मतदाता आईडी/पैन कार्ड/आधार कार्ड)

PPF: हर महीने 1000 रुपये निवेश करने पर मिलेगा 18 लाख रुपये का पीपीएफ खाता क्या है रिटर्न, देख लें पूरा कैलकुलेशन

PPF: हर महीने 1000 रुपये निवेश करने पर मिलेगा 18 लाख रुपये का रिटर्न, देख लें पूरा कैलकुलेशन

पब्लिक प्रोविडेंट फंड या PPF मौजूदा समय में देश में सबसे लोकप्रिय, लंबी अवधि के निवेशों में से एक है.

TV9 Bharatvarsh | Edited By: संजीत कुमार

Updated on: May 21, 2022 | 8:00 AM

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) या PPF मौजूदा समय में देश में सबसे लोकप्रिय, लंबी अवधि के निवेशों में से एक है. यह सभी भारतीयों के बीच सबसे लोकप्रिय सेविंग्स (Savings) के तरीकों में से एक है. यह निवेश का एक सुरक्षित विकल्प है, जो उन्हें स्थायी और आकर्षक रिटर्न (Return) की गारंटी देता है. अगर निवेश इस स्कीम (Savings Scheme) में नियमित तौर पर निवेश करता है, तो वह कुछ सालों में पीपीएफ के जरिए अच्छी दौलत इकट्ठा कर सकता है. पब्लिक प्रोविडेंट फंड या पीपीएफ सरकार द्वारा समर्थित, ज्यादा यील्ड्स वाली स्मॉल सेविंग्स स्कीम है. इसका मकसद रिटायरमेंट के बाद निवेशकों के लिए लंबी अवधि की दौलत तैयार करना होता है. पीपीएफ निवेश के टैक्स फ्री माध्यम पीपीएफ खाता क्या है पीपीएफ खाता क्या है के तौर पर भी काम करती है.

ये भी पढ़ें

Uber से सफर करने वालों के लिए दो जरूरी खबरें, मुसाफिरों को मिलेगी सहूलियत; लेकिन चुकाने पड़ेंगे ज्यादा पैसे

Uber से सफर करने वालों के लिए दो जरूरी खबरें, मुसाफिरों को मिलेगी सहूलियत; लेकिन चुकाने पड़ेंगे ज्यादा पैसे

इस निजी बैंक ने सेविंग्स अकाउंट पर ब्याज दरें बढ़ाईं, ग्राहक देख लें लेटेस्ट रेट्स

इस पीपीएफ खाता क्या है निजी बैंक ने सेविंग्स अकाउंट पर ब्याज दरें बढ़ाईं, ग्राहक देख लें लेटेस्ट रेट्स

निवेश के लिहाज से कितने काम का है वॉलेंटरी प्रोविडेंट फंड? सैलरी वालों को मिलता है बंपर लाभ, जानिए पूरी डिटेल

पीपीएफ खाते में कितना निवेश किया जा सकता है?

बैंक बाजार. कॉम के सीईओ आदिल शेट्टी के मुताबिक, “आप 100 रुपये के साथ अपना पीपीएफ खाता खोल सकते हैं. हालांकि एक वित्त वर्ष में पीपीएफ खाते में कम से कम 500 रुपये जमा करना जरूरी है. जबकि पीपीएफ खाते में ज्यादा से ज्यादा 1,50,000 रुपये जमा करा सकते हैं. पीपीएफ खाते से आप को टैक्स डिडक्शन से जुड़े लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन यदि आपने एक वित्त वर्ष में अपने पीपीएफ पीपीएफ खाता क्या है खाते में 1.5 लाख से ज्यादा की राशि जमा कराई है तो आप को अधिकतम सीमा से ज्यादा जमा कराई गई रकम पर किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं मिलेगा.”

यही नियम उन पीपीएफ के उन खातों पर लागू होगा पीपीएफ खाता क्या है जो सिंगल पेरेंट या पेरेंट्स द्वारा अपने नाबालिग बच्चे के नाम से खोला गया है. इन खातों के लिए भी निवेश की अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपये ही तय है. यानी की माता-पिता को अपने बच्चे के पीपीएफ खाते में 1.5 लाख से ज्यादा रकम का निवेश नहीं करनी चाहिए.

पीपीएफ खाता खोलने के पीपीएफ खाता क्या है लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

पीपीएफ खाता खोलने के लिए जरुरी फॉर्म भरते समय आप के पास आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट साइज की फोटों और पेन कार्ड की सेल्फ अटेस्टेड फोटो कॉपी होनी चाहिए. वहीं नाबालिग के नाम से पीपीएफ खाता खोलने के लिए बच्चे के पासपोर्ट साइज फोटों के साथ ही उसका जन्म प्रमाण पत्र और पेरेंट्स की KYC की जानकारी की जरुरत होती है.

सरकार द्वारा पीपीएफ खाते से पैसा निकालने के नियमों को थोड़ा सख्त रखा गया है. ताकि निवेशक पैसा निकालते समय ज्यादा सावधानी बरतें, हालांकि सरकार द्वारा निवेशक को आवश्यकताओं के अनुसार धन की निकासी का अधिकार दिया गया है. यानी सरकार ने निवेशक को ये अधिकार दिया है कि निवेशक अलग अलग परिस्थितियों के आधार पर तय की गई सीमा तक पैसे निकाल सकता है.

पीपीएफ खाताधारकों के लिए जरुरी जानकारी

इस बात में किसी भी प्रकार को कोई संदेह नहीं है कि पीपीएफ बेहद सुरक्षा, टैक्स बेनिफिट्स और पीपीएफ खाता क्या है गारंटी के साथ रिटर्न देता है, लेकिन खाता धारक को ये बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि पीपीएफ खाते में निवेश लंबी अवधी के लिये किया जाता है. हालांकि केन्द्र सरकार द्वारा पीपीएफ में निवेशित रकम पर देय ब्याज दर में बदलाव किया जा सकता है.

पीपीएफ लंबी अवधि के लिए एक सुरक्षित निवेश विकल्प है और उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो आकर्षक कर लाभ और ईपीएफ जैसे रिटर्न चाहते हैं जो केवल वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए उपलब्ध है.

PPF Account: जानिए- करोड़पति बनने के लिए हर माह पीपीएफ खाते में जमा करें कितनी रकम?

Published: July 14, 2021 10:04 AM IST

PPF Post Office

PPF Account: पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) सरकार द्वारा चलाई जा रही एक तरह से स्माल सेविंग स्कीम है जिसको लेकर निवेशकों को कोई जोखिम नहीं रहता है. लंबे समय तक निवेश करने के लिए यह एक अच्छा विकल्प है. रिटायरमेंट के समय इसका बड़ा फायदा मिलता है. इसमें बहुत ज्यादा फायदा तो नहीं मिल पाता है लेकिन इससे मिलने वाली आया टैक्स फ्री होती है. साथ ही 80 सी के तहत इस पर टैक्स छूट भी ली जा सकती है. आयकर की धारा के तहत इस पर मिलने वाला ब्याज कर रहित होता है.

Also Read:

पीपीएफ खाते पर मिलने वाला ब्याज अन्य बचत योजनाओं का तुलना में ज्यादा होता है. पीपीएफ पर उसी तरह से गारंटीड रिटर्न मिलता है जैसे अन्य स्कीम पर मिलता है. पीपीएफ में निवेश एकमुश्त किया जा सकता है या 12 समान किस्तों में किया जा सकता है. एक वित्त पीपीएफ खाता क्या है वर्ष में इसमें कम से कम 500 रुपये या अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकता है. फिलहाल पीपीएफ पर 7.1 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है और इसका टेन्योर 15 साल का होता है. अगर किसी ने नियमित रूप से पीपीएफ खाते में निवेश किया है तो उसको रिटायरमेंट पीपीएफ खाता क्या है पर एक करोड़ रुपये मिल सकते हैं.

पीपीएफ कैलकुलेटर

पीपीएफ खाते से एक करोड़ रुपये पाने के लिए निवेशक के 25 साल तक पैसे जमा करने होते हैं और इस समय 7.1 फीसदी की दर से मिलने वाले ब्याज पर गणना करने पर उसे यह रकम मिल सकती है. अगर यह माना जाए कि कोई व्यक्ति 25 साल तक 1.5 लाख रुपये हर साल निवेश करता है तो उसे अंत में 1 करोड़ रुपये वर्तमान ब्याज दर के हिसाब से मिलेंगे. इस पर ज्यादा समय के लिए चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है. जिससे यह रकम बढ़कर एक करोड़ रुपये हो जाती है.

​मैच्योरिटी से पहले भी करा सकते हैं क्लोज

PPF खाताधारक, पति या पत्नी या आश्रित बच्चों को जान के खतरे की बीमारी होने की स्थिति में PPF का पूरा पैसा निकाला जा सकता है। इसके अलावा खाताधारक या आश्रित बच्चों की उच्च शिक्षा के मामले में, खाताधारक की निवास की स्थिति के परिवर्तन के मामले में (यानी एनआरआई बन गया) भी PPF खाते को मैच्योरिटी से पहले बंद किया जा सकता है। पीपीएफ खाते को, खुलवाने के 5 साल पूरे होने के बाद बंद कराया जा सकता है। ऐसा करने पर खाता खोलने की तारीख/एक्सटेंशन की तारीख से लेकर खाता बंद करने की तारीख तक 1% ब्याज की कटौती की जाएगी।

​अगर खाताधारक की हो जाए मृत्यु

खाते की मैच्योरिटी से पहले ही PPF खाताधारक की मृत्यु हो जाने की स्थिति में नॉमिनी (Nominee) PPF खाते का पूरा पैसा निकाल सकता है, फिर भले ही PPF खाता खुले हुए 5 साल पूरे न हुए हों। खाताधारक के मरने के बाद पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाते को बंद कर दिया जाएगा और नॉमिनी/कानूनी उत्तराधिकारी को आगे वह PPF खाता जारी रखने की अनुमति नहीं होगी।

​PPF पर ये सुविधाएं भी मौजूद

ppf-

पोस्‍ट ऑफिस PPF पर नॉमिनेशन सुविधा, माइनर के नाम पर दूसरा PPF अकाउंट खुलवाने की सुविधा, लोन लेने की सुविधा, इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन डिपॉजिट सुविधा, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सेविंग्स अकाउंट से ऑनलाइन डिपॉजिट की सुविधा उपलब्ध है। पीपीएम का मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को 5 साल के ब्लॉक में बढ़ाया जा सकता है। अकाउंट एक्सटेंड कराने पर इसे आगे नए डिपॉजिट के साथ या बिना पीपीएफ खाता क्या है नए डिपॉजिट किए जारी रखा जा सकता है। मौजूदा बैलेंस पर ब्याज हासिल होता रहेगा।

रेटिंग: 4.78
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 139
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *